दिल्ली कैपिटल्स Amit mishra

आईपीएल के पहले सीजन 2008 में दिल्ली डेयरडेविल्स की तरफ से खेलने वाले लेग स्पिनर अमित मिश्रा (Amit Mishra) ने अभी तक सभी 13 संस्करणों में शिरकत कर चुके हैं। इस दौरान उन्होंने 4 फ्रेंचाइजियों के लिए गेंदबाजी की है। 13 संस्करणों में वो अभी तक 150 मैच खेल चुके हैं। 2003 में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण करने वाले मिश्रा जी 38 साल के हो चुके हैं। उनका कहना है कि एक अच्छा लेग स्पिनर बनने के लिए अच्छे कप्तान की भी जरुरत होती है। जब बल्लेबाज रन बना रहे होते हैं तो कप्तान का भरोसा ही गेंदबाज का आत्मविश्वास बढ़ाता है।

दूसरे सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज

Amit Mishra

2003 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ वनडे में पदार्पण करने वाले अमित मिश्रा (Amit Mishra) ने 14 साल तक देश के लिए गेंदबाजी की है। सभी फॉर्मेट में कुल 68 मैच खेल चुके अमित 156 रन अपने नाम कर चुके हैं। यही नहीं वो 13 सालों में 150 आईपीएल मैच भी खेल चुके हैं। यही नहीं 4 टीमों के लिए खेलते हुए उन्होंने आईपीएल इतिहास के दूसरे सबसे ज्यादा विकेट (160) लेने वाले गेंदबाज हैं। उनसे ज्यादा विकेट सिर्फ मुंबई इंडियंस के लसिथ मलिंगा (170) के नाम हैं।

कप्तान को समझनी होगी गेंदबाज की मानसिकता

Amit Mishra

आईपीएल के सबसे सफल लेग स्पिनर और दिल्ली कैपिटल्स का प्रतिनिधित्व करने वाले अमित मिश्रा (Amit Mishra) का कहना है कि हर स्पिनर को एक अच्छे कप्तान की जरुरत होती है। जिससे अगर बल्लेबाज स्पिनर की गेंदों पर रन बना रहे हों तो कप्तान का भरोसा बना रहे। मिश्रा ने आगे और कहा कि मेरा मतलब ऐसे कप्तान से है जो गेंदबाज की मानसिकता समझ सके। भारतीय टीम के पास भी इस वक्त यजुवेंद्र चहल, कुलदीप यादव और राहुल चाहर के अलावा कोई और अच्छा स्पिनर नहीं है।

कलाई से गेंद को स्पिन करवाना है मुश्किल कला

Amit Mishra

लेग स्पिनर अमित मिश्रा (Amit Mishra) का मानना है कि कलाई से गेंद को स्पिन करवाना बहुत मुश्किल कला है। इस बारे में बात करते हुए वो आगे बोले कि हमारे पास कई लेग स्पिनर हैं, लेकिन उनमे से ज्यादातर को मार्गदर्शन की जरुरत है। जिसके बाद हमें अच्छे और ज्यादा लेग स्पिनर्स मिल जाएंगे। जस तरह से बल्लेबाजों के पास कई तरह से शॉट खेलने की कला है। ठीक उसी तरह लेग स्पिनर को भी अपनी कला में बदलाव करना होगा। जिससे क्रिकेट के सबसे छोटे प्रारूप में वो खुद को ढाल सकें।