‘मैन ऑफ़ द मैच’ लेते हुए आंद्रे रसेल पहली बार किया खुलासा, आखिर वो कैसे इतनी आसानी से लगाते है छक्के

kalpesh kalal / 24 May 2018

इंडियन प्रीमियर लीग के 11वें सीजन में बुधवार को प्लेऑफ चरण के एलिमिनेटर मैच में कोलकाता नाइट राईडर्स और राजस्थान रॉयल्स के बीच मुकाबला हुआ। कोलकाता के ऐतिहासिक मैदान ईडन गार्डन में खेले गए इस मैच में राजस्थान रॉयल्स के कप्तान अजिंक्य रहाणे ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया।

PC_BCCI

केकेआर की शानदार जीत

इस मैच में कोलकाता नाइट राईडर्स की टीम पहले बल्लेबाजी करने उतरी और पहले बल्लेबाजी करते हुए अपने निर्धारित 20 ओवर में 7 विकेट पर 169 रन का स्कोर खड़ा किया। इसके जवाब में राजस्थान रॉयल्स ने अच्छी शुरूआत के बाद भी 25 रनों से मैच को गंवा दिया। इस जीत के साथ केकेआर ने दूसरे एलिमिनेटर मैच में कदम रख लिया।

PC_BCCI

केकेआर ने खड़ा किया 169 रनों का स्कोर

केकेआर इस वर्चुअल क्वार्टर फाइनल मैच में टॉस हारने के बाद पहले बल्लेबाजी करने उतरी। अपने घरेलु मैदान पर केकेआर की शुरूआत बहुत ही खराब रही और 51 रनों तक 4 विकेट खो दिए, लेकिन इसके बाद कप्तान दिनेश कार्तिक, शुभमन गिल और आन्द्रे रसेल की उपयोगी पारियों की बदौलत खराब शुरूआत से उबरते हुए अपने निर्धारित 20 ओवर में 169 रन बनाए। दिनेश कार्तिक ने 52, रसेल ने 49 और शुभमन ने 28 रनों की पारी खेली।

PC_BCCI

राजस्थान रॉयल्स बना सका 144 रन

इस लक्ष्य के जवाब में राजस्थान रॉयल्स की शानदार शुरूआत रही। पहले विकेट के लिए राहुल त्रिपाठी और अजिंक्य रहाणे ने 31 गेंदो में 47 रन जोड़े। राहुल त्रिपाठी के आउट होने के बाद संजू सैमसन ने रहाणे के साथ स्कोर को आगे बढ़ाना जारी रखा। इन दोनों बल्लेबाजों ने 62 रन जोड़कर रॉयल्स को जीत की स्थिति में पहुंचा दिया। लेकिन इसके बाद रॉयल्स को रहाणे और संजू सैमसन के झटके लगे जिसके बाद पूरी पारी में रॉयल्स जूझती नजर आयी और अपने 20 ओवर में 144 रन ही बना सकी और 25 रनों से मैच गंवा दिया।

PC_BCCI

जीत में योगदान देकर लग रहा है अच्छा

इस मैच में 25 गेंदो में 49 रनों की पारी खेलने वाले आंद्रे रसेल को ‘मैन ऑफ द मै’च दिया गया। आंद्रे रसेल ने कहा कि “अच्छा महसूस हो रहा है। किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ मैच के बाद थोड़ा व्यस्त हो गए। हमारे लिए हर मैच फाइनल की तरह हो गया। तो अपना योगदान देकर अच्छा लग रहा है। मेरा सिर स्पष्ट रहता है इसी कारण से मैं शॉर्ट गेंद, स्लोवर गेंद, वाइड गेंद को उसी के अनुसार खेल सकता हू।

इसी आधार पर आप ये सुनिश्चित करें, कि किस गेंद को कैसे खेलना है। एक बार जब मैं कनेक्ट कर लेता हूं, तो मुझे पता चल जाता है, कि ये गेंद 4 या 6 के लिए जाएगी। मैं तेजी के साथ घुमाना हूं, तो मुझे गेंद को बाहर भेजने में मदद मिलती है।”

PC_BCCI

बाकी बचे सभी मैच हैं फाइनल की तरह

“गेंद और बल्ले के साथ जिम्मेदारी लेना बहुत अच्छा लगता है। खासतौर पर एक सीनियर खिलाड़ी के रूप में। इससे ये दिखता है, कि आप सुधार कर रहे हैं। सभी मैच हमारे लिए फाइनल की तरह हैं। और घरेलु परिस्थितियों का लाभ मिलेगा वो अच्छा है। अब एक नए मैच के लिए जा रहे हैं, तो फिर से शुरूआत की जरूरत है।”

PC_BCCI

अगर आपको हमारा ये आर्टिकल पसंद आए तो प्लीज इसे लाइक और शेयर करें।