इंग्लैंड के निदेशक एंडी फ्लावर ने बताये आईपीएल में खेलने के फायदे और नुकसान

vineetarya / 26 May 2018

आईपीएल दुनिया की सबसे लोकप्रिय टी-20 लीग है. आईपीएल में दुनियाभर के खिलाड़ी खेलते है. आईपीएल 2018 का फाइनल रविवार 27 मई को चेन्नई सुपर किंग्स की टीम और सनराइजर्स हैदराबाद के बीच होना है.

इस फाइनल मैच से पहले इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड के निदेशक एंडी फ्लावर ने आईपीएल को लेकर एक बयान दिया है. जिससे वह काफी सुर्खियों में भी आ गये है.

बताये आईपीएल के फायदे और नुकसान 

आपकों बता दे, कि हाल ही में इंग्लैंड टीम के निदेशक बने एंडी फ्लावर ने आईपीएल में खेलने के फायदों व नुकसानों के बारे में बताया है. उन्होंने अपने बयान इंग्लैंड के स्टार खिलाड़ियों के आईपीएल में खेलने को लेकर भी रोचक बातें कही है.

आईपीएल में खेलने के कारण खिलाड़ी नहीं खेल पाते प्रथम श्रेणी मैच 

एंडी फ्लावर ने अपने बयान में कहा, “इस समय ईसीबी का मानना है, कि हमें अपने बेस्ट खिलाड़ियों को आईपीएल में भेजना चाहिए, आईपीएल जैसे मुद्दे पर जब से मैंने अपना फैसला बताया था. तब से काफी लोग कह सकते है कि चींजे अच्छी तरह आगे बढ़ रही है.

हालाँकि, आईपीएल में खेलने से हमारे खिलाड़ी प्रथम श्रेणी क्रिकेट में मिलने वाले शानदार मौकों को खो देते है. इसमें किसी तरह का कोई शक नहीं है.”

आईपीएल से दबाव में खेलना सीखते है खिलाड़ी 

एंडी फ्लावर ने आगे अपने बयान में कहा, “वैसे आईपीएल में खेलने से हमारे खिलाड़ियों को बहुत कुछ सीखने को भी मिलता है. आईपीएल में वह दबाव में खेलना सीखते है. दर्शकों से भरे स्टेडियम में खेलने का अनुभव उन्हें मिल जाता है. साथ ही वह दुनिया के कई शीर्ष खिलाड़ियों के साथ ड्रेसिंग रूम भी साझा करते है.”

खेले इंग्लैंड के कई क्रिकेटर 

आपकों बता दे, कि आईपीएल सीजन-11 में इंग्लैंड के कई क्रिकेटरों ने प्रतिभाग किया. जोस बटलर और बेन स्टोक्स जहां राजस्थान रॉयल के लिए इस आईपीएल में खेले थे.

वही क्रिस वोक्स और मोईन अली आरसीबी के लिए खेले. सनराइजर्स के लिए भी एलेक्स हेल्स और क्रिस जोर्डन खेल रहे है. वही चेन्नई के लिए मार्क वुड और केकेआर के लिए टॉम कुरेन ने खेला. दिल्ली डेयरडेविल्स के लिए भी जेसन रॉय ने खेला था.