अंकित कालसी ने इंजीनियरिंग छोड़, क्रिकेट में बनाया करियर, इन खिलाड़ियों को किया

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

इंजीनियरिंग छोड़ क्रिकेटर बना यह भारतीय, आज दिग्गजों पर पड़ रहा है भारी 

इंजीनियरिंग छोड़ क्रिकेटर बना यह भारतीय, आज दिग्गजों पर पड़ रहा है भारी

क्रिकेट के खेल में एक समय भी ऐसा नहीं होता है, जब कही कोई टूर्नामेंट न खेला जा रहा हो, एक समय जब भारतीय टीम वेस्टइंडीज के खिलाफ अपनी सीरीज खेल रही तभी, दूसरी ओर भारत में दिलीप ट्राफी खेली जा रही है. इस टूर्नामेंट में इंडिया रेड और इंडिया ब्‍ल्‍यू के बीच मुकाबले में कई शानदार खिलाड़ी खेल रहे हैं.

इंडिया रेड में कई नामी खिलाड़ी खेल रहे हैं, लेकिन इन सब दिग्गज खिलाड़ियों पर हिमाचल प्रदेश का यह खिलाड़ी भारी पड़ रहा है यह कोई और नहीं अंकित कालसी हैं. जिन्होंने इंजीनियरिंग छोड़ क्रिकेट को अपना करियर बनाया है.

इंडिया रेड में अंकित कालसी

इंजीनियरिंग छोड़ क्रिकेटर बना यह भारतीय, आज दिग्गजों पर पड़ रहा है भारी 1

इंडिया रेड की ओर से करुण नायर, वरुण आरोन, ईशान किशन, अक्षर पटेल, जयदेव उनादकट, जैसे खिलाड़ी खेल रहे हैं. अंकित कालसी ने इस मैच में अपना शानदार प्रदर्शन दिखाया.

इन्होने अपनी टीम को 285 रनों तक पहुचाया. करुण नायर 99 रन बनाकर पवेलियन चले गए. आउट हुए तो शुभमन गिल केवल 9 रन बना सके. कलसी ने 345 गेंदों की मदद से 8 चौकों की मदद से 106 रन बनाए. जब उन्‍होंने 90 का स्‍कोर पार किया तो टीम के पास 4 विकेट बचे हुए थे.

इंजीनियरिंग छोड़ क्रिकेट में बनाया करियर

इंजीनियरिंग छोड़ क्रिकेटर बना यह भारतीय, आज दिग्गजों पर पड़ रहा है भारी 2

कालसी ने ईएसपीएनक्रिकइंफो को बताया कि कैसे उन्होंने इंजीनियरिंग छोड़ क्रिकेट में कारियर छोड़ा,

‘मैंने फर्स्‍ट ईयर की पढ़ाई के बाद इंजीनियरिंग छोड़ दी. मैं 18 साल का हो चुका था तो मुझे अंडर-19 टीम में जगह नहीं मिली. मैं लगातार 3 सीजन तक टीम से बाहर रहा. ऐसे में मुझे करियर बनाने के लिए कुछ करना था. मैंने मिले हुए मौकों को भुनाना और कभी जाया नहीं करना सीखा.’

अंकित कालसी का क्रिकेट करियर

इंजीनियरिंग छोड़ क्रिकेटर बना यह भारतीय, आज दिग्गजों पर पड़ रहा है भारी 3

25 साल के इस युवा खिलाड़ी ने अभी तक एक भी टी-20 मुकाबला नहीं खेला है. उन्‍होंने अभी तक 23 फर्स्‍ट क्‍लास मैच खेले हैं और इसमें 42.82 की औसत से 1242 रन बनाए हैं.

अंकित कलसी को क्रिकेट में अपनी जगह बनाने के लिए काफी लंबा इंतजार करना पड़ा. उनके माता-पिता उन्‍हें इंजीनियर बनाना चाहते थे, लेकिन कलसी ने क्रिकेट के लिए फर्स्‍ट ईयर के बाद इंजीनियरिंग की पढ़ाई छोड़ दी.

अंकित कलसी ने पिछले 6 मुकाबलों में 4 शतक और 2 अर्धशतक लगाए हैं. इस दौरान रणजी ट्रॉफी के एक मुकाबले में वे दोनों पारियों में शून्‍य पर आउट हो गए थे. लेकिन अगले मैच में उन्‍होंने शतक व अर्धशतक लगाया है.

Related posts