मुंबई और चेन्नई के बीच हुए इस मैच में प्रशंसको ने जताया संदेह, मैच फिक्स था?

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

आईपीएल 2019: मुंबई और चेन्नई के बीच हुए इस मैच में प्रशंसको ने जताया संदेह, कहा फिक्स था फाइनल? 

आईपीएल 2019: मुंबई और चेन्नई के बीच हुए इस मैच में प्रशंसको ने जताया संदेह, कहा फिक्स था फाइनल?

रविवार को खेले गए आईपीएल मैच में गेंद दर गेंद जो मैच में रोमांच देखने को मिला. इस तरह का मैच की ही राजीव गांधी अंतर्राष्ट्रीय स्टेडियम में दर्शकों ने आशा की होगी. मुंबई और चेन्नई के बीच हुए इस मैच में आखिर में मुंबई ने 1 रन से जीत दर्ज कर ली. जीत दर्ज करने के साथ ही वह आईपीएल में चौथी बार खिताब जीतने वाले एकमात्र टीम के रुप में सामने आये.

आईपीएल 2019: मुंबई और चेन्नई के बीच हुए इस मैच में प्रशंसको ने जताया संदेह, कहा फिक्स था फाइनल? 1

सोशल मीडिया से लेकर सट्टा बाजार ने घटनाओंं को किया उजागरः

चेन्नई के 1 रन से मैच गंवाने के बाद सोशल मीडिया से लेकर सट्टाबाजार में तरह-तरह की बातें सामने आने लगी. सट्टे की बात की जाए तो इंडिया को छोड़कर अन्य देशों में ये वैध रुप से संचालित हो रहा है. प्रशंसक यहां तक ये भी कह रहे थे कि ये पूर्व निर्धारित था, इसे केवल और केवल एक रुप प्रदान किया गया. अंतिम घटनाओं में कई घटनाएं रहस्य को एक हवा देती हैं. महेंद्र सिंह धोनी को थर्ड अंपायर ने एक मिलीमीटर से रन आउट क्यों करार दिया जब बल्लेबाज़ के पक्ष में जाने के फ़ैसले पर काफ़ी संदेह था?

मुंबई के प्रशंसक यह प्रतिवाद करेंगे कि

“अंपायर ने ब्रावो के आखिरी ओवर में दो वाइड गेंदो को अनदेखा क्यों किया. इसके अलावा किरोन पोलार्ड को विरोध करने के लिए और इसमें जुर्माना लगाने के लिए उकसाया गया. मैच गेंद दर गेंद इस तरह से बदल रहा था कि प्रशंसको को कुुछ भी समझ नहीं आ रहा था कि आखिर ये हो क्या रहा है?

आईपीएल 2019: मुंबई और चेन्नई के बीच हुए इस मैच में प्रशंसको ने जताया संदेह, कहा फिक्स था फाइनल? 2

यहां तक ​​कि अगर वे पूर्व निर्धारित परिणाम देते हैं, तो यह कैसे तय करेगा कि जब अंतिम घटना संयोग से होगी, तो यह अंतिम गेंद पर कैसे होगी? रोहित शर्मा ने आखिरी ओवर लसिथ मलिंगा को दिया, मलिंगा जिन्होंने इसके पहले ही ओवर में 20 रन दिए थे. तो इस हिसाब से मैच चेन्नई के पक्ष में जाता हुआ दिखाई दे रहा था. लेकिन वाटसन इसी ओवर में रन आउट हो गए, जिससे एक बार फिर से मैच के सारे समीकरण बदल गए.

आखिर में शार्दुल ठाकुर को बलि का बकरा बना दिया गया, उन्होंने अगली गेंद पर दो रन ले लिए, जिसके बाद एक गेंद पर 2 रन की आवश्यकता थी, लेकिन एक रन ले लेते तो मैच टाई हो जाता और मैच सुपर ओवर में पहुंचने के साथ-साथ सट्टेबाजों को एक बार फिर से नये सिरे से जूछना पड़ता, इसके साथ हजारों करोड़ रुपये का नुकसान होता.

जसप्रीत बुमराह की आखिरी गेंद को मलिंगा द्वारा विकेट के पीछे छोड़ना भी इस रहस्य को बढ़ावा देता है. मैच के दौरान  इन घटनाओं के देखकर प्रशंसक से लेकर सट्टा बाजार मैच फिक्सिंग को लेकर तरह-तरह के कयास लगाते हुए नजर आएं.

आईपीएल 2019: मुंबई और चेन्नई के बीच हुए इस मैच में प्रशंसको ने जताया संदेह, कहा फिक्स था फाइनल? 3

Related posts