Asad Rauf dies of heart attack

क्रिकेट के मैदान में क्रिकेटर के अलावा अगर कोई महत्वपूर्ण होता है तो वह होता है उस मैच का अंपायर। अंपायर किसी भी क्रिकेट मैच का निर्देशक होता है। दरअसल हम यहां अंपायर की बात इसलिए कर रहे हैं क्योंकि अंतराष्ट्रीय क्रिकेट के पूर्व अंपायर असद रउफ (Asad Rauf) का निधन हो गया है।

असद रऊफ का अचानक दिल का दौरा पड़ने से निधन

क्रिकेट जगत में दौड़ी शोक की लहर, पाकिस्तान के पूर्व अंपायर असद रऊफ का 66 साल की उम्र में निधन 1

असद रऊफ (Asad Rauf) का निधन गुरुवार (15 सितंबर) को संदिग्ध कार्डियक अरेस्ट के कारण हो गया। रऊफ ने 66 साल की उम्र में अंतिम सांस ली।पाकिस्तानी चैनल दुन्या न्यूज के हवाले से रऊफ (Asad Rauf) के भाई ताहिर ने दिग्गज अंपायर के बारे में यह जानकारी दी। ताहिर ने कहा कि वह लाहौर के लांडा बाजार में अपनी कपड़ों की दुकान बंद करके घर लौट रहे थे, तभी उनके सीने में किसी तरह की बेचैनी महसूस हुई।

बता दें कि रऊफ को तत्काल अस्पताल ले जाया गया, लेकिन उन्हें बचाया नहीं जा सका। रऊफ (Asad Rauf) अलीम डार के साथ पाकिस्तान के अब तक के महान अंपायरों में से एक थे। 2006 में वापस, रऊफ (Asad Rauf) को ICC के अंपायरों के एलीट पैनल में शामिल किया गया था, जिसके बाद उन्होंने 47 टेस्ट, 98 एकदिवसीय और 23 T20I में अंपायरिंग की।

असद रऊफ का अंपायरिंग करियर

क्रिकेट जगत में दौड़ी शोक की लहर, पाकिस्तान के पूर्व अंपायर असद रऊफ का 66 साल की उम्र में निधन 2

रऊफ (Asad Rauf) ने इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में भी अंपायरिंग की लेकिन आईपीएल 2013 स्पॉट फिक्सिंग गाथा में उनका नाम सामने आने के बाद, रऊफ (Asad Rauf) का करियर ढलान पर चला गया।प्रदर्शन की वार्षिक समीक्षा के बाद 2013 में अंपायरों के एलीट पैनल से हटाए जाने के बाद वो अपनी एक निजी कपड़े और जूते के दुकान चलाने के लिए भी काफी चर्चा में आए थे।

बता दें कि रऊफ (Asad Rauf) ने 1998 में अपनी अंपायरिंग यात्रा शुरू की और 2000 में पाकिस्तान और श्रीलंका के बीच एक वनडे में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण किया। चार साल बाद, 2004 में, रऊफ को पहली बार अंपायरों के अंतर्राष्ट्रीय पैनल में शामिल किया गया था।