एशेज सीरीज: डेविड वार्नर ने स्टुअर्ट ब्रॉड को अपने दिमाग पर होने का मौका दिया

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

एशेज सीरीज: डेविड वार्नर ने स्टुअर्ट ब्रॉड को अपने दिमाग पर हावी होने का मौका दिया: जस्टिन लैंगर 

एशेज सीरीज: डेविड वार्नर ने स्टुअर्ट ब्रॉड को अपने दिमाग पर हावी होने का मौका दिया: जस्टिन लैंगर

2019 एशेज सीरीज 2-2 से ड्रा हो गई लेकिन इसके बाद भी एशेज की यह ट्राफी ऑस्ट्रेलिया के पास रहेगी, इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेली गयी यह सीरीज काफी रोमांचक रही, इस सीरीज में बैन के बाद लौटे स्टीव स्मिथ ने एक बार फिर अपने बल्ले से खुद को साबित किया. साथ ही डेविड वार्नर इस सीरीज में कुछ ख़ास नहीं कर पाए, इस सीरीज में ऐसा लग रहा था, जैसे डेविड वार्नर ने स्टुअर्ट ब्रॉड को अपने दिमाग पर होने दिया था जिसके चलते वह एक भी मैच में अपने बल्ले से कोई बड़ी पारी नहीं खेल पाए थे.

एशेज सीरीज: डेविड वार्नर ने स्टुअर्ट ब्रॉड को अपने दिमाग पर हावी होने का मौका दिया: जस्टिन लैंगर 1

एशेज सीरीज में डेविड वार्नर और स्टुअर्ट ब्रॉड

एशेज सीरीज: डेविड वार्नर ने स्टुअर्ट ब्रॉड को अपने दिमाग पर हावी होने का मौका दिया: जस्टिन लैंगर 2

5 मैच की इस एशेज सीरीज में पहला मैच ऑस्ट्रेलिया ने जीते और दूसरे पर इंग्लैंड ने बेन स्टोक्स की बदौलत जीत हासिल की, तो वहीं तीसरा मैच रद्द हो गया, चौथा मैच फिर ऑस्ट्रेलिया ने जीता तो वहीं पांचवे मैच को इंग्लैंड ने अपने नाम कर लिया, इसके बाद भी यह ट्रॉफी ऑस्ट्रेलिया के पास ही रहेगी.

इस एशेज सीरीज में ऑस्ट्रेलिया के स्टीव स्मिथ ने तो अपना डंका बजाया, लेकिन वहीं दूसरी ओर उनके साथी खिलाड़ी डेविड वार्नर के लिए यह सीरीज काफी खराब रही, इस सीरीज में 7 बार वार्नर इंग्लैंड के गेंदबाज स्टुअर्ट ब्रॉड से आउट हो गए.

ऐसे में ऑस्ट्रेलिया के कोच का मानना है कि ऐसा इसलिए हुआ, क्योंकि जब वार्नर ब्रॉड के सामने सामने खड़े होते तो ब्रॉड की कामयाबियों और उनके फॉर्म के बारे में ज्यादा सोचते थे, जिसके चलते वह खुद खुल कर नही खेल पाते थे.

स्ट्रेलिया के कोच का मानना है कि,

“सच कहूं तो उसने ब्रॉड को अपने दिमाग पर हावी होने दिया और उसके बारे में बहुत ज्यादा सोचा. मैंने ऐसा पहले भी कई बार देखा है ,कई महान खिलाड़ियों के साथ, मुझे याद है (साल 2005 में) गिली और एंड्रयू फ्लिंटॉफ के साथ ऐसा हुआ था.”

डेविड वार्नर को मिलेंगे अभी और मौके

एशेज सीरीज

भले ही डेविड वार्नर के लिए एशेज की सीरीज निराशाजनक रही हो लेकिन, विश्व कप में इनके बल्ले ने भी कमाल दिखाया था, ऐसे में किसी भी दिग्गज खिलाड़ी को आप एक मैच के आधार पर उसके लिए अपनी राय नहीं बना सकते हैं. शायद यही कारण है कि जस्टिन लैंगर ने कहा है कि,

“मैंने काफी समय में ये सीखा है कि आप किसी भी महान खिलाड़ी को ऐसे नजरअंदाज नहीं सकते हैं. इस बात से फर्क नहीं पड़ता कि खेल कौन सा है, आप कभी भी एक चैंपियन खिलाड़ी को कमतर नहीं समझते हैं.”

आगे कोच ने कहा कि,

“वार्नर आने वाली सीरीज में फिर अपने फॉर्म में दिखेंगे, यह माना जा सकता है कि उनके लिए यह सीरीज इतनी अच्छी नहीं लेकिन वो ऑस्ट्रेलिया के चैंपियन खिलाड़ी हैं, ऐसे में मुझे यकीन है कि बहुत जल्द ही वापसी करेंगे और पहले जैसा कमाल दिखायेंगे.”

Related posts