रविचंद्रन अश्विन

भारतीय क्रिकेट टीम के टेस्ट स्पेसलिस्ट ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन बांग्लादेश के खिलाफ टेस्ट सीरीज में जीत दर्ज करने के बाद अपनी घरेलू तमिलनाडु की टीम से सेमीफाइनल मुकाबले में जुड़े. सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी का फाइनल मैच अश्विन और उनकी टीम के लिए किसी बुरे सपने से कम नहीं है जिसे उन्होंने मात्र 1 रन से गंवाया है. मैच के दौरान लगातार 2 विकेट लेने के बाद अश्विन ने विकेट इमरान ताहिर की तरह सेलिब्रेट करते नजर आए.

अश्विन ने इमरान ताहिर की तरह किया विकेट सेलिब्रेट

रविवार को तमिलनाडु और कर्नाटक के बीच फाइनल मुकाबला खेला गया. रविचंद्रन अश्विन ने इस मैच में 2 विकेट चटकाए और नाबाद 16 रनों की पारी खेली. हालांकि इसके बावजूद तमिलनाडु की टीम 1 रन से मैच हार गई.

गेंदबाजी करते हुए अश्विन ने सबसे पहले 22 रन पर खेल रहे केएल राहुल को चलता किया और अगली ही गेंद पर मयंक अग्रवाल को शून्य पर आउट कर दिया. इसके बाद आप वीडियो में देख सकते हैं कि अश्विन साउथ अफ्रीका के स्पिन गेंदबाज इमरान ताहिर की तरह विकेट सेलिब्रेट करते नजर आए. असल में ताहिर विकेट लेने के बाद मैदान पर दौड़ना शुरु कर देते हैं. ठीक उसी तरह अश्विन ने मयंक का विकेट लेने के बाद किया.

पुणे सुपरजायंट में साथ खेल चुके हैं अश्विन-इमरान

इमरान ताहिर

सैयद मुश्ताक अली फाइनल मैच में रविचंद्रन अश्विन ने इमरान ताहिर को किया कॉपी, देखें वीडियो 1

इमरान ताहिर और रविचंद्रन अश्विन दोनों ही स्पिनर्स ने आईपीएल में पुणे सुपरजायंट से खेलते हुए ड्रेसिंग रूम शेयर किया है. 2018 में अश्विन को किंग्स इलेवन पंजाब ने उन्हें खरीदकर अपनी टीम की कप्तानी सौंपी. अब आईपीएल 2020 के लिए दिल्ली कैपिटल्स ने अश्विन को ट्रेड कर अपनी टीम में शामिल कर लिया है.

1 रन से तमिलनाडु ने गंवाया खिताब

तमिलनाडु टीम

सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी का फाइनल मैच कर्नाटक और तमिलनाडु के बीच खेला गया. इसमें टॉस जीतकर तमिलनाडु ने पहले गेंदबाजी का फैसला किया. परिणामस्वरूप पहले बल्लेबाजी करते हुए कर्नाटक मनीष पांडे की 60 रनों की कप्तानी पारी की मदद से 180 रन बोर्ड पर लगाए.

चुनौतीपूर्ण लक्ष्य का पीछा करने उतरी तमिलनाडु की टीम 20 ओवर में 6 विकेट के नुकसान पर 179 रन ही बना सकी और मैच एक रन से हार गई. बताते चलें इससे पहले विजय हजारे ट्रॉफी का फाइनल भी इन्ही दोनों टीमों के बीच खेला गया था. वहां भी तमिलनाडु की टीम को हार का मुंह देखना पड़ा था.