रविचंद्रन अश्विन ने ट्रेड होने पर पहली बार दी प्रतिक्रिया

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

दिल्ली कैपिटल्स में शामिल होने के बाद किंग्स इलेवन पंजाब के बारे में कुछ ऐसा बोलते नजर आए रविचन्द्रन अश्विन 

दिल्ली कैपिटल्स में शामिल होने के बाद किंग्स इलेवन पंजाब के बारे में कुछ ऐसा बोलते नजर आए रविचन्द्रन अश्विन

किंग्स इलेवन पंजाब के रविचंद्रन अश्विन अगले आईपीएल सीजन में दिल्ली कैपिटल्स के लिए खेलते नजर आयेंगे। पंजाब ने उन्हें ट्रेड कर लिया है। इसकी खबर काफी दिनों से आ रही थी लेकिन अधिकारिक पुष्टि अब हुई है। पंजाब को अश्विन के बदले जगदीश सुचित और 1.5 करोड़ रूपये मिले हैं।

दिल्ली कैपिटल्स में शामिल होने के बाद किंग्स इलेवन पंजाब के बारे में कुछ ऐसा बोलते नजर आए रविचन्द्रन अश्विन 1

सुचित बाएं हाथ के स्पिन गेंदबाज हैं। पंजाब की टीम में वह कप्तान थे लेकिन दिल्ली के पास श्रेयस अय्यर के रूप में कप्तान मौजूद है। ऐसे में उन्हें शायद ही कप्तान का मौका मिले लेकिन टीम को उनके अनुभव से जरुर फायदा मिलेगा।

रविचंद्रन अश्विन की प्रतिक्रिया आई

रविचंद्रन अश्विन

रविचंद्रन अश्विन पिछले दोनों आईपीएल में किंग्स इलेवन पंजाब की टीम का हिस्सा थे। टीम से अगले होने के बाद उन्होंने पहली बार प्रतिक्रिया दी है। किंग्स इलेवन पंजाब से अगले होने और दिल्ली से जुड़ने पर उन्होंने कहा

“यह किंग्स इलेवन पंजाब के साथ एक शानदार यात्रा रही है। मैं हमेशा किंग्स के साथ बिताए गए दो वर्षों और अपने सभी साथियों को याद करूंगा। मैं नई चुनौतियों का इंतजार कर रहा हूं। मैं प्रशंसकों को दो वर्षों में उनके अंतहीन समर्थन के लिए धन्यवाद देना चाहूंगा, उनका बाहर आना और अपनी टीम का समर्थन करना अविश्वसनीय था।”

ऐसा रहा था प्रदर्शन

रविचंद्रन अश्विन

दो सीजन में रविचंद्रन अश्विन ने किंग्स इलेवन पंजाब के लिए सभी 28 मुकाबले खेले थे। इसमें उन्होंने 25 बल्लेबाजों को आउट करने के साथ ही 144 रन भी बनाये। पंजाब से पहले वह चेन्नई सुपर किंग्स और राइजिंग पुणे सुपरजायंट्स की टीम का हिस्सा रह चुके थे। चेन्नई की टीम 2010 और 2011 में आईपीएल जीती थी और दोनों में अश्विन की भूमिका अहम थी।

खिलाड़ी के रूप में उनका प्रदर्शन जरुर अच्छा रहा लेकिन कप्तान के रूप में उन्हें निराशा ही हाथ लगी। पंजाब की टीम पिछले दोनों सीजन में प्लेऑफ में जगह बनाने में असफल रही। आईपीएल 2018 में उन्होंने शानदार शुरुआत की थी लेकिन अंतिम 8 मैचों में उन्हें एक ही जीत मिली। इसकी वजह से टेबल में 7वें स्थान पर रहना पड़ा।

Related posts