बॉर्डर-गावस्कर

ऑस्ट्रेलिया और भारत के बीच खेली गई बॉर्डर-गावस्कर सीरीज के ब्रिस्बेन टेस्ट मैच में भारतीय क्रिकेट टीम ने जीत दर्ज करके साबित कर दिया की हारी बाजी को जीतना इस टीमको बखूबी आता है। भारत ने चौथी पारी में 328 रनों के लक्ष्य को सफलतापूर्वक हासिल कर गाबा टेस्ट मैच में 3 विकेट से एक ऐतिहासिक जीत दर्ज कर बॉर्डर-गावस्कर सीरीज को बरकरार रखा है।

टॉस जीतकर ऑस्ट्रेलिया ने चुनी थी बल्लेबाजी

टीम इंडिया

1-1 की बराबरी पर पहुंची बॉर्डर-गावस्कर सीरीज का चौथा व आखिरी मैच ब्रिस्बेन के गाबा में खेला गया। इस मैच में टॉस जीतकर ऑस्टेलियाई कप्तान टिम पेन ने पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया। जहां, पहले बल्लेबाजी करने उतरी ऑस्ट्रेलिया की टीम के मार्नस लाबुशेन की 108 व टिम पेन की 50 रनों की पारी की मदद से ऑस्ट्रेलिया की टीम ने 369 रन बोर्ड पर लगा दिए।

इस दौरान भारत के तेज गेंदबाज शार्दुल ठाकुर, टी नटराजन व स्पिनर वॉशिंगटन सुंदर ने 3-3 विकेट लिए। वहीं मोहम्मद सिराज 1 विकेट लेने में कामयाब हुए। बता दें, टी नटराजन व वॉशिंगटन सुंदर का डेब्यू मैच रहा और शार्दुल ठाकुर ने लंबे वक्त बाद टेस्ट टीम में वापसी की।

शार्दुल-वॉशिंगटन सुंदर ने की कमाल की बल्लेबाजी

टीम इंडिया

भारतीय क्रिकेट टीम के सामने ऑस्ट्रेलियाई टीम ने पहली पारी में 369 रन बनाकर भारत को चुनौतीपूर्ण स्थिति में पहुंचा दिया। जहां, भारत ने अपना पहला विकेट शुभमन गिल के रूप में सिर्फ 7 रन पर ही गंवा दिया। मगर रोहित शर्मा 44 रन की पारी खेलकर आउट हुए।

इस मैच में चेतेश्वर पुजारा 25 व अजिंक्य रहाणे 37 रन बनाकर पवेलियन लौट गए। लेकिन इसके बाद वॉशिंगटन सुंदर (62) व शार्दुल ठाकुर ( 67 )के बीच 123 रनों की शतकीय साझेदारी हुई। दोनों युवा गेंदबाजों ने बल्ले के साथ जिस तरह का प्रदर्शन किया, उसे भारतीय टीम हमेशा याद रखेगी। शार्दुल व वॉशिंगटन की इस पारी की मदद से भारत ने पहली पारी में 336 रन बनाए  और पहली पारी के बाद ऑस्ट्रेलिया के पास सिर्फ 33 रनों की बढ़त थी।

इस दौरान ऑस्ट्रेलिया के तेज गेंदबाज जोश हेजलवुड ने 5, मिचेल स्टार्क व पैट कमिंस ने 2-2 और नाथन लॉयन ने 1 विकेट अपने खाते में जमा किया।

ऑस्ट्रेलिया ने खड़ा किया 328 रनों का लक्ष्य

टीम इंडिया

दूसरी पारी में ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम एक बार फिर अच्छी बल्लेबाजी करती नजर आई। जहां, मार्कस हारिस (38) व डेविड वॉर्नर (48) ने टीम को अच्छी शुरुआत दी। इसके बाद मार्नस लाबुशेन (25) रन पर आउट हुए, तो स्टीव स्मिथ ने 55 रनों की अर्धशतकीय पारी खेली।

क्रिस ग्रीन (37), टिम पेन (27), पैट कमिंस (28), जोश हेजलवुड (9), नाथन लॉयन (13) रन बनाकर आउट हुए और इसी के साथ ऑस्ट्रेलिया ने दूसरी पारी में 294 रन बनाए और भारत के सामने 328 रनों का लक्ष्य खड़ा कर दिया।

इस दौरान भारत के तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज ने अपने टेस्ट करियर का पहला फाइव विकेट हॉल लिया, शार्दुल ठाकुर ने 4 व वॉशिंगटन सुंदर ने 1 विकेट हासिल किया।

भारत ने दर्ज की ऐतिहासिक जीत

चेतेश्वर पुजारा

गाबा टेस्ट मैच में 328 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय क्रिकेट टीम को पहला झटका रोहित शर्मा के रूप में लगा, जब वह सिर्फ 7 रन बनाकर आउट हो गए। रोहित के आउट होने से भारत को बड़ा झटका लगा लेकिन दूसरे सलामी बल्लेबाज शुभमन गिल ने चेतेश्वर पुजारा के साथ मिलकर 134 रनों की साझेदारी की और भारत की मैच में वापसी कराई।

शतक के नजदीक पहुंचे शुभमन गिल 91 रन पर नाथन लियोन की गेंद का शिकार हो गए। भले ही गिल शतक ना बना सके हों, लेकिन उनकी इस पारी ने भारत को मैच ड्रॉ करने के बजाए जीतने की उम्मीद दी।

गिल के बाद क्रीज पर आए अजिंक्य रहाणे 22 गेंदों पर 24 रन बनाकर पवेलियन लौट गए। गाबा टेस्ट के पांचवें दिन एक बार फिर चेतेश्वर पुजारा ने अपनी काबिलियत को साबित किया कि वह जरुरत पड़ने पर यकीनन विकेट के सामने एक दीवार की तरह खड़े हो जाते हैं। पुजारा ने आज लगभग 10 गेंदें शरीर पर खाईं। कभी उनकी कोहनी पर, कभी उनके सिर पर तो कभी उनके हाथों पर गेंद लगी, लेकिन वह टस से मस नहीं हुए और क्रीज पर टिके रहे।

हेजलवुड की एक गेंद पुजारा के हाथ पर लगी और वह मैदान पर दर्द से कराहते नजर आए, जिसके बाद फिजियो भी मैदान पर आए और उन्हें उपचार दिया गया। मगर पुजारा ने फिर बल्ले को हाथ में लिया और विकेट के सामने खड़े हो गए। इस दौरान पुजारा ने 211 गेंदों पर 54 रनों की अर्धशतकीय पारी खेली।

युवा विकेटकीपर-बल्लेबाज ऋषभ पंत और वॉशिंगटन सुंदर के बीच हुई साझेदारी ने मैच के रोमांच को सातवें आसमान पर पहुंचा दिया। जी हां, टेस्ट क्रिकेट में इन दोनों बल्लेबाजों ने एक ओवर में 15 रन बटोरे। सुंदर ने पंत के साथ पांचवें विकेट के लिए 23 रनों  की साझेदारी करके भारत को जीत के बगल में खड़ा कर दिया। शार्दुल ठाकुर भी 2 रन बनाकर आउट हो गए। मगर दूसरी छोर पर खड़े ऋषभ पंत 138 गेंदों पर 89 रनों के साथ भारत को 3 विकेट से जीत दिलाई।

कोच रवि शास्त्री ने दूसरी पारी में जीत दर्ज करने के लिए ऋषभ पंत को मयंक अग्रवाल से पहले भेजा और उनकी यह समझदारी कहीं ना कहीं भारतीय टीम के जीतने की एक बड़ी वजह रही है, क्योंकि पंत ने आक्रमक रुख अपनाते हुए एक शानदार पारी खेली.

यहां देखें पूरा स्कोरकार्ड

MATCH REPORT : रवि शास्त्री की इस समझदारी से भारत ने जीता चौथा टेस्ट, सीरीज 2-1 से की अपने नाम 1 MATCH REPORT : रवि शास्त्री की इस समझदारी से भारत ने जीता चौथा टेस्ट, सीरीज 2-1 से की अपने नाम 2 MATCH REPORT : रवि शास्त्री की इस समझदारी से भारत ने जीता चौथा टेस्ट, सीरीज 2-1 से की अपने नाम 3

MATCH REPORT : रवि शास्त्री की इस समझदारी से भारत ने जीता चौथा टेस्ट, सीरीज 2-1 से की अपने नाम 4