पूर्व कोच कुंबले ने कहा इस समय हुआ भारतीय टीम को अपनी असली शक्ति का अहसास

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

पूर्व कोच अनिल कुंबले ने कहा कोहली की कप्तानी में नहीं बल्कि इस समय भारतीय टीम को हुआ था अपनी शक्ति का अहसास 

पूर्व कोच अनिल कुंबले ने कहा कोहली की कप्तानी में नहीं बल्कि इस समय भारतीय टीम को हुआ था अपनी शक्ति का अहसास

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान और पूर्व कोच अनिल कुंबले एक बार फिर से चर्चा का एक अहम मुद्दा बन गये हैं. हाल में ही दिग्गज स्पिन गेंदबाज अनिल कुंबले को हैदराबाद में माइक्रोसॉफ्ट के CEO सत्य नडेला की बुक लॉन्च ‘हिट रिफ्रेश‘ के इवेंट में देखा गया. जहाँ क्रिकेट प्रेमी और माइक्रोसॉफ्ट CEO सत्य नडेला ने अनिल कुंबले से उनके क्रिकेटिंग करियर को लेकर काफी सवाल जवाब किये.

2001 के दौर को किया याद 

पूर्व कोच अनिल कुंबले ने कहा कोहली की कप्तानी में नहीं बल्कि इस समय भारतीय टीम को हुआ था अपनी शक्ति का अहसास 1

इस बड़े इवेंट के दौरान सत्य नडेला और अनिल कुंबले ने अपने अपने जीवन के कई खास और यादगार ‘हिट रिफ्रेश‘ लम्हों को याद किया. जब सत्य ने अनिल कुंबले से यह पूछा, कि आपके हिसाब से भारतीय क्रिकेट का सबसे महत्वपूर्ण मोड़ कौन सा रहा, तो इस पर अपना जवाब देते हुए अनिल ने कहा, कि

”मेरे हिसाब से 1983 में मिली विश्व कप की जीत और 2001 में ऑस्ट्रेलिया के साथ खेला गई बॉर्डर गावस्कर श्रृंखला एकदम खास थी. नब्बे के दशक की सबसे खास बात यह रही थी, कि हमारी टीम ने लगभग घरेलू सरजमी पर हर एक मैच जीता. मगर आप सबसे महत्वपूर्ण मोड़ की बात करे, तो सबसे अहम मोड़ ऑस्ट्रेलिया के साथ खेली गई 2001 की टेस्ट सीरीज रही थी.

मुझे याद हैं, कि मैं चोटिल होने के कारण टीम का हिस्सा नहीं था. यह वही समय था, जब टीम को अपनी असली क्षमता का एहसास हुआ और टीम को आने बारे में पता चला. इसके बाद भारतीय क्रिकेट लगातार मजबूत होता गया और हम नंबर वन भी बने.”

जीती थी हमने श्रृंखला 

पूर्व कोच अनिल कुंबले ने कहा कोहली की कप्तानी में नहीं बल्कि इस समय भारतीय टीम को हुआ था अपनी शक्ति का अहसास 2

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेली गयी 2000-01 की बॉर्डर गावस्कर टेस्ट श्रृंखला मेजबान टीम इंडिया 2-1 से जीतने में सफल रही थी. श्रृंखला की शुरुआत टीम इंडिया की बड़ी हार के साथ हुई थी, लेकिन सीरीज में बुरी तरह से पिछड़ने के बाद भी टीम ने ना सिर्फ जोरदार वापसी की, बल्कि बॉर्डर गावस्कर टेस्ट श्रृंखला भी 2-1 से जीतकर अपने नाम की और चैंपियन ऑस्ट्रेलियाई टीम का गुरुर तोड़ा.

टीम इंडिया यह सीरीज सौरव गांगुली की अगुवाई में जीतने में सफल रही थी और यह वही सीरीज थी, जिसमें हरभजन सिंह ने हैट्रिक लेकर विश्व क्रिकेट को अपने बारे में बताया था.

Related posts

Leave a Reply