टी20 विश्व कप

ऑस्ट्रेलिया के दौरे पर भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच सीमित ओवर की सीरीज का आगाज 27 नवंबर से होने जा रहा है। दोनों ही टीमें तीन मैचों की वनडे सीरीज के साथ शुरुआत करेंगी। इस सीरीज को लेकर दोनों ही टीमें जी-जान के साथ मैदान में तैयारी में जुटी हुई हैं। जिसमें दोनों ही टीमें एक-दूसरे पर श्रेष्ठता हासिल करने की कोशिश करेंगी।

मार्कस स्टोइनिस पर रहेंगी खास नजरें

ऑस्ट्रेलिया और भारत इस समय की सबसे बेहतरीन टीमों में से एक हैं। इस कारण से यहां पर रोचक मुकाबलें की उम्मीद की जा रही है। ऑस्ट्रेलिया की टीम में कुछ खिलाड़ियों पर खास नजरें हैं जिसमें ऑलराउंडर मार्कस स्टोइनिस को अलग नहीं रखा जा सकता है।

ऑस्ट्रेलिया के ऑलराउंडर मार्कस स्टोइनिस इस तरह करना चाहते हैं साथी ग्लेन मैक्सवेल की मदद 1

मार्कस स्टोइनिस ने हाल ही में आईपीएल में शानदार फॉर्म दर्शायी थी। इस कारण से उनके प्रदर्शन करने की पूरी उम्मीद की जा रही है। स्टोइनिस खुद भी टीम के लिए जिम्मेदारी लेने को तैयार हैं, जिनकी इच्छा है कि वो नीचे बल्लेबाजी करें।

किसी भी क्रम पर बल्लेबाजी करने को तैयार

ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम के ऑलराउंडर खिलाड़ी मार्कस स्टोइनिस ने शनिवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में अपनी बात रखी। जिसमें उन्होंने कई बातें साझा की। मार्कस स्टोइनिस ने कहा कि

” जब मैं काफी युवा था तब कभी सलामी बल्लेबाजी करता था, घरेलू क्रिकेट में भी और बिग बैश लीग में भी। आस्ट्रेलियाई टीम में इस तरह की बातें होती थी, कि मैं कहां बल्लेबाजी करूंगा और ये कि मैं ज्यादा पारी की शुरुआत करने में सहज हूं। मुझे लगता है कि सलामी बल्लेबाजी करने के लिए कई सारी चीजें हुई।”

ऑस्ट्रेलिया के ऑलराउंडर मार्कस स्टोइनिस इस तरह करना चाहते हैं साथी ग्लेन मैक्सवेल की मदद 2

“लेकिन फिर मैंने आईपीएल में दिल्ली के लिए मध्य क्रम में बल्लेबाजी का लुत्फ लिया। पोंटिंग मुझ पर काफी विश्वास करते हैं और वो टीम में मुझे जिम्मेदारी देना चाहते हैं। मैंने बीते तीन साल में लगभग हर क्रम पर बल्लेबाजी की। मुझे ये बात भी ध्यान में रखनी होगी।”

नीचे बल्लेबाजी करने से ग्लेन मैक्सवेल को मिलेगी मदद

इसके बाद मार्कस स्टोइनिस ने माना कि वो भारत के खिलाफ सीरीज में निचले क्रम पर ही बल्लेबाजी करना पसंद करेंगे। वो चाहते हैं कि इससे नीचे ग्लेन मैक्सवेल को मदद मिल सके। उन्होंने कहा कि

“यहां निश्चित तौर पर जिम्मेदारी है। मुझे लगता है कि ये रोल है कि आपको समय बिताना होता है, समझना होता है और दबाव तो होता ही है, आपको अंतिम के ओवरों में किस तरह की बल्लेबाजी करनी है।”

ऑस्ट्रेलिया के ऑलराउंडर मार्कस स्टोइनिस इस तरह करना चाहते हैं साथी ग्लेन मैक्सवेल की मदद 3

“विश्व के सर्वश्रेष्ठ 200 की स्ट्राइक रेट से रन बनाते हैं खासकर टी-20 में। वहां ज्यादा नहीं हैं, इसलिए वहां मेरे लिए मौका है। मैक्सवेल वहां हैं, वो विश्व के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ियों में से एक हैं, लेकिन उनके साथ किसी न किसी को तो होना है।”