सचिन तेंदुलकर ने नहीं बल्कि बेलिंडा क्लार्क ने लगाया था अन्तर्राष्ट्रीय वनडे में सबसे पहले दोहरा शतक

sagar mhatre / 08 June 2016

अगर आपको किसी ने पुछा कि, वनडे क्रिकेट में पहला दोहरा शतक किसने लगाया था? तो आप सचिन तेंदुलकर का नाम ही लेंगे. लेकिन वनडे क्रिकेट में पहला दोहरा शतक सचिन ने नहीं बल्कि 1997 में अॉस्ट्रेलियाई महिला टीम की कप्तान बेलिंडा क्लार्क ने लगाया था. बेलिंडा ने ये दोहरा शतक डेनमार्क के खिलाफ लगाया था. बेलिंडा ने 155 गेंदों में 229 रनों की पारी खेली थी. सचिन पुरूषों के क्रिकेट में वनडे में दोहरा शतक लगाने वाले पहले बल्लेबाज थे, लेकिन बेलिंडा ने 1997 महिला विश्वकप के दौरान ये दोहरा शतक लगाया था, और वे पहली क्रिकेटर बनी थी ऐसा कारनामा करने वाली.

बेलिंडा की उस पारी के बदौलत अॉस्ट्रेलिया ने उस मैच में 412 रन बनाए थे. बेलिंडा ने अपनी उस पारी पर कहा था कि, “मैनें कभी नहीं सोचा था की मैं इतनी बड़ी पारी खेलूंगी, लेकिन मेरा यहीं लक्ष्य था कि, मुझे पुरे 50 ओवर खेलना हैं, और इस वजह से मैं वो कारनामा कर पायी थी.”

belinda-clarkeउस मैच में भारत के अंपायर मदन सिंह थे, जिन्होंने उस पारी पर कहा कि, “वो पारी काफी शानदार थी. बेलिंडा के शॉट्स में काफी आत्मविश्वास था, और सामने वाली टीम के गेंदबाज उस पारी के बाद काफी शर्मिंदा हुए थे.”

उस मैच में डेनमार्क की टीम सिर्फ 49 रन बनाकर अॉल आउट हो गयी थी, जो सिर्फ बेलिंडा की पारी से ही, 180 कम थे. बेलिंडा ने उस पारी में कुल 22 चौके लगाए थे, और 2 अन्य बल्लेबाजों के साथ शतकीय साझेदारी किया था.

उस विश्वकप में बेलिंडा ने शानदार बल्लेबाजी की थी, और अॉस्ट्रेलिया को फाइनल में ले जाकर विजेता बनाया था. बेलिंडा ने फाइनल में भी 52 रन बनाए थे. बेलिंडा की कप्तानी में अॉस्ट्रेलिया 2 बार विश्वकप जीती हैं.

बेलिंडा ने 1991 में क्रिकेट में पदार्पण किया था, और साल 2005 में क्रिकेट से सन्यास लिया था. महिला क्रिकेट ज्यादा प्रसिद्ध ना होने की वजह से बेलिंडा को ज्यादा लोग नहीं जानते होंगे, लेकिन वे एक बेहतरीन क्रिकेटर थी. बेलिंडा को साल 1998 में विज़डन अवॉर्ड भी मिला था. बेलिंडा साथ ही, महिला क्रिकेट अॉस्ट्रेलिया की सीईओ भी रहीं हैं.

बेलिंडा ने सबसे पहले दोहरा शतक लगाने का कारनामा किया था, लेकिन किसीको भी ये याद नहीं हैं.

बेलिंडा ने जब सचिन और सहवाग ने दोहरा शतक लगाया तब कहा था कि, “मैं आज काफी खुश हूं, कि मैं इन महान खिलाड़ीयो के लिस्ट में शामिल हूं.”