मिस्बाह उल हक ने बताया क्यों सरफराज अहमद की जगह बाबर आजम को बनाया गया कप्तान 1

पाकिस्तान क्रिकेट टीम के मुख्य कोच और मुख्य चयनकर्ता मिस्बाह उल हक ने ऐलान कर दिया है कि युवा खिलाड़ी बाबर आजम को आईसीसी विश्व कप को ध्यान में रखते हुए एकदिवसीय टीम का कप्तान नियुक्त किया गया है. असल में सरफराज अहमद को एकदिवसीय कप्तानी से हटाया गया था, तब से ये जगह खाली थी और अब बुधवार को टी20 टीम के कप्तान बाबर आजम को ही एकदिवसीय क्रिकेट का कप्तान नियुक्त किया.

2023 को देखते हुए बनाया कप्तान

बाबर अजम

आईसीसी विश्व कप 2019 के बाद सरफराज अहमद को कप्तानी से हटा दिया गया था. तभी से ये जगह खाली थी. मगर बुधवार को टी20 कप्तान बाबर आजम को एकदिवसीय टीम का कप्तान नियुक्त करते हुए मुख्य कोच व चयनकर्ता ने बताया,

हमने इस बात को ध्यान में रखा कि कौन लंबी रेस का घोड़ा बन सकता है. बाबर को वनडे टीम का कप्तान नियुक्त करने के पीछे हमने 2023 विश्व कप को ध्यान में रखा. वह टी-20 टीम के कप्तान हैं और शीर्ष स्तर के खिलाड़ी भी और उनको तैयार करने का यह सही समय है.

वह चुनौती को स्वीकार कर रहे हैं. जब से वह टी-20 टीम के कप्तान बने हैं, उनका टेस्ट में प्रदर्शन भी सुधरा है. इसलिए अगर वो जिम्मेदारी ले सकते हैं तो क्यों ना उन्हें दी जाए.

आमिर-रियाज हैं हमारे अनुभवी गेंदबाज

मौजूदा वक्त में पाकिस्तान क्रिकेट टीम बदलाव के दौर से गुजर रही है. ऐसे में बुधवार को पाकिस्तान ने 2020-21 का सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट जारी किया. इस कॉन्ट्रैक्ट से उन्होंने मुख्य गेंदबाज मोहम्मद आमिर, रियाज और हसन को शामिल नहीं किया गया है. ये देखकर हर कोई हैरान रह गया. इसपर कोच मिस्बाह उल हक ने कहा,

चयनकर्ताओं ने आमिर, रियाज और हसन को बाहर करने का मुश्किल फैसला लिया, लेकिन इसके पीछे कारण यह था कि हसन चोट के कारण अधिकतर समय सीजन से दूर रहे, आमिर और रियाज ने सफेद गेंद से खेलने पर ध्यान देने का फैसला किया है, जो सही कदम है.

आमिर और रियाज हमारे अनुभवी गेंदबाज हैं और वह अभी भी रेस में बने हुए हैं क्योंकि हमें लगता है कि वह अभी भी टीम में योगदान दे सकते हैं और साथ ही युवा तेज गेंदबाजों को सिखा सकते हैं.

अजहर अली हैं टेस्ट के कप्तान

अजहर अली

आईसीसी विश्व कप 2019 में पाकिस्तान क्रिकेट टीम बिना सेमीफाइनल में जगह बनाए स्वदेश लौट आई थी. इसके बाद से टीम में बदलाव का दौर शुरु हुआ. उसी दौरान कप्तान सरफराज अहमद को कप्तानी से हटाने के साथ-साथ सीमित ओवर क्रिकेट की कप्तानी से हटाया गया. इतना ही नहीं उन्हें टीम से भी ड्रॉप कर दिया गया. इसके बाद टेस्ट टीम की कमान अजहर अली को सौंप दी गई और सीमित ओवर क्रिकेट टीम कमान बाबर आजम को कमान सौंपी गई.