ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान का दावा, उनकी इस सिफारिस और बदलाव से भारत से छीन गया था विश्व कप ट्रॉफी 1

ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान स्टीवन स्मिथ आज अपनी किसी पहचान के मोहताज नहीं हैं। स्टीवन स्मिथ को हर कोई जानता है कि आज उनका क्रिकेट जगत में बल्लेबाजी के दम पर कितना बड़ा कद हो चुका है और वो अपनी बल्लेबाजी से क्या करने की क्षमता रखते हैं। स्मिथ मौजूदा दौर में सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजों में गिने जाते हैं।

स्टीवन स्मिथ गेंदबाज से बने बड़े बल्लेबाज, आज हैं बल्लेबाजी के दबंग

वैसे स्टीवन स्मिथ ने अपने क्रिकेट करियर की शुरुआत लेग स्पिन गेंदबाज के तौर पर की थी। लेकिन इनकी बल्लेबाजी कौशल को देखते हुए इन्हें समय के साथ बल्लेबाजी में हाइप मिली और आज वो इस मुकाम पर हैं।

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान का दावा, उनकी इस सिफारिस और बदलाव से भारत से छीन गया था विश्व कप ट्रॉफी 2

स्टीवन स्मिथ की बल्लेबाजी में भरोसा धीरे-धीरे जगा था। उन्हें बल्लेबाजी में शुरुआत में निचले क्रम पर भेजा जाता था लेकिन उन्हें समय के साथ ही बल्लेबाजी में आगे प्रमोट किया और आज नतीजा पूरे विश्व क्रिकेट के सामने है।

2015 विश्व कप में जॉर्ज बैली ने दी थी स्मिथ को ऊपर भेजने की सलाह

साल 2015 में ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड की मेजबानी में खेले गए आईसीसी क्रिकेट विश्व कप में स्टीवन स्मिथ ऑस्ट्रेलिया की जीत में बड़े सूत्रधार बने थे। इस विश्व कप में उन्हें बल्लेबाजी में ऊपर आने का मौका मिला और उन्होंने अपना काम भी किया।

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान का दावा, उनकी इस सिफारिस और बदलाव से भारत से छीन गया था विश्व कप ट्रॉफी 3

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान का दावा, उनकी इस सिफारिस और बदलाव से भारत से छीन गया था विश्व कप ट्रॉफी 4

स्मिथ ने पूरे विश्व कप में शानदार बल्लेबाजी करते हुए 7 पारियों में 67 की शानदार औसत से 402 रन बनाए जिसमें 1 शतक और 4 अर्धशतक शामिल रहे।  इस विश्व कप में वैसे स्मिथ ऊपर बल्लेबाजी कराने की योजना में नहीं थे लेकिन ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान जॉर्ज बैली ने स्मिथ को बल्लेबाजी में ऊपर भेजने की सलाह दी थी।

जॉर्ज बैली ने किया दावा, स्मिथ को 2015 विश्व कप में ऊपर भेजने की दी थी सलाह

जॉर्ज बैली ने उस बात का खुलासा करते हुए कहा कि “मेरा दावा  लोकप्रियता में हैं। इसमें कोई संदेह नहीं है कि वो (माइकल क्लार्क) वैसे भी समाप्त हो गए थे। लेकिन हम वनडे टीम में और जिम्बाब्वे(उस विश्व कप से पहले) में स्टीव स्मिथ का 6 या 7 नंबर पर इस्तेमाल कर रहे थे। हमने मिच(मिचेल मार्श) को आगे किया लेकिन वो तीन मैच में विकेट फेंकते रहे।”

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान का दावा, उनकी इस सिफारिस और बदलाव से भारत से छीन गया था विश्व कप ट्रॉफी 5

“मैंने सुझाव दिया कि यहां स्टीव स्मिथ होने चाहिए। क्योंकि उस समय मिच गेंद में बाउंस नहीं ले सकते थे। और फिर ये कर सकते थे, लेकिन मैं उसे पूरी पारी के लिए बल्लेबाजी करते हुए नहीं देख सकता था। जहां मैं देख सकता था कि स्मिथ 50 ओवर तर बल्लेबाजी कर सकते थे। जिसमें उन्होंने महत्वपूर्ण शतक भी बनाए।”

“मैंने ये सिफारिश की थी और स्मिथ ने उस विश्व कप में बहुत अच्छा खेला था, तब से उन्होंने पीछे मुड़कर नहीं देखा।”