बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड ने लगाई अपने ही खिलाडियों को फटकार

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड ने लगाई अपने ही खिलाड़ियों को फटकार, आदत सुधारने की दे डाली नसीहत 

बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड ने लगाई अपने ही खिलाड़ियों को फटकार, आदत सुधारने की दे डाली नसीहत

निदाहास ट्रॉफी के फ़ाइनल तक का सफ़र बांग्लादेश ने भले ही तय किया लेकिन क्रिकेट जैसे जेंटलमैन गेम को शर्मसार करने में कोई कसर नहीं छोड़ी. अच्छे खेल से ज्यादा बांग्लादेशी खिलाड़ियों ने अपनी हरकतों से इस टूर्नामेंट में सुर्खियां बटोरीं. श्रीलंका के खिलाफ खेले गए मैच को तो विवादों की वजह से ही क्रिकेट इतिहास में याद किया जाएगा. उस मैच में हुए विवादों को देखते हुए आईसीसी ने आचार संहिता का उल्लंघन करने पर शाकिब अल हसन और नुरूल हसन पर मैच फीस का 25 प्रतिशत जुर्माना लगाया है.
बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड ने लगाई अपने ही खिलाड़ियों को फटकार, आदत सुधारने की दे डाली नसीहत 1बांग्लादेशी खिलाडियों के इन्हीं शर्मनाक रवैये की वजह से अपने बोर्ड से भी फटकार सुननी पड़ी. बांग्लादेश क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड के चेयरमैन नजमुल हसन ने देश के खिलाड़ियों की आलोचना करते हुए कहा कि “श्रीलंका के खिलाफ मैच के आखिरी पलों में उन्होंने पेशेवर व्यवहार नहीं दिखाया. खिलाड़ियों ने खेल भावना का परिचय न देते हुए गलत व्यवहार किया.” नजमुल हसन ने यह बातें मिड-डे से बातचीत में कही.
बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड ने लगाई अपने ही खिलाड़ियों को फटकार, आदत सुधारने की दे डाली नसीहत 2उधर मेजबान श्रीलंका क्रिकेट के चेयरमैन थिलंगा सुमतिपाला ने कहा कि “बांग्लादेशी खिलाड़ियों की ओर से गलत हरकतें देखना बहुत निराशाजनक रहा. अगर आईसीसी की ओर से सख्त निर्णय नहीं हुआ तो ऐसी हरकतें खेल भावना को बहुत नुकसान पहुंचाएंगी.”
बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड ने लगाई अपने ही खिलाड़ियों को फटकार, आदत सुधारने की दे डाली नसीहत 3हालांकि मुश्किलें बढ़ती देख बांग्लादेश के कप्तान शाकिब उल हसन ने सफाई देते हुए कहा कि “मैंने अपने खिलाड़ियों को मैच के बीच वापस नहीं बुलाया. मैंने उन्हें खेल जारी रखने के लिए कहा था. आप इसे किस भी तरह से दिखाना चाहते हैं यह आप पर निर्भर करता है. बेहतर होगा कि इस प्रकरण को छोड़ कर मैच के बारे में बात की जाए.”
बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड ने लगाई अपने ही खिलाड़ियों को फटकार, आदत सुधारने की दे डाली नसीहत 4हालांकि उन्होंने ये भी कहा कि यह पूरा विवाद स्कवेयर लेग अंपायर के द्वारा दी गई नो-बॉल और फिर उसे रद्द करने पर हुआ. मुझे नहीं लगता कि वह अंपायरों का सही फैसला था. मुझे नहीं पता कि पहली बाउंसर के बाद क्या हुआ लेकिन दूसरी बाउंसर के बाद अंपायर्स ने पहले नो बॉल दी थी. ‘

गौरतलब है कि शुक्रवार को मैच के अंतिम ओवर में अंपायर के फैसले पर बांग्लादेश क्रिकेट टीम के कप्तान शाकिब खफा हो गए थे. उन्होंने ड्रेसिंग रूम से मैदान के बाउंड्रीलाइन पर पहुंचकर बल्लेबाजों को वापस लौटने का संकेत दिया. उनका आरोप था कि अंतिम ओवर में अंपायरों ने लगातार श्रीलंकाई गेंदबाज की दूसरी शार्ट पिच गेंद को नोबॉल नहीं दिया. अंतिम ओवर में जीत के लिए 12 रन चाहिए थे. मगर शार्टपिच गेंदों पर एक भी रन नहीं बने उल्टे बांग्लादेश का एक खिलाड़ी आउट हो गया. मैच में श्रीलंका और बांग्लादेश के खिलाड़ियों के बीच धक्का-मुक्का भी हुई थी.

Related posts

Leave a Reply