बांग्लादेश

टी20 क्रिकेट में आने के बाद से रिकॉर्ड बनना जैसे आम हो गया है. अब आये दिन नए रिकॉर्ड बनते जा रहे हैं. ऐसा ही एक बड़ा रिकॉर्ड अब बांग्लादेश की महिला टीम ने बना दिया है. जिन्होंने मालदीव के खिलाफ इतिहास रच दिया है. उन्होंने एक टी20 मैच में 249 रनों से जीत दर्ज की और विपक्षी टीम को मात्र 6 रनों पर आलआउट कर दिया.

बांग्लादेश महिला टीम ने रचा इतिहास 249 रनों से की जीत

बांग्लादेश की महिला टीम ने रचा इतिहास, टी20 मैच में 249 रनों की जीत दर्ज की 1

मैच में पहले बल्लेबाजी करते हुए बांग्लादेश की टीम ने निगार सुल्ताना ने 65 गेंदों पर 113 रन बनाये जिसमें 14 चौके और 3 छक्के लगाये और उनका साथ देते हुए फरगाना हक ने भी शतक लगाते हुए 53 गेंदों पर 20 चौके के मदद से 110 रन बनाये. जिसके कारण उनकी टीम ने 20 ओवर में 2 विकेट गँवा कर 255 रन बनाये.

मालदीव की ओर से किन्‍नथ इस्‍माइल ने 4 ओवर के कोटे में 69 रन लुटाए तो इशाल इब्राहिम और लात्‍शा हलीमथ ने 56-56 रन लुटाए. बांग्लादेश की शुरुआत अच्छी नहीं रही थी. उन्होंने भी अपने दोनों सलामी बल्लेबाजो को मात्र 19 रनों पर खो दिया था. लेकिन उसके बाद उन्होंने जबरदस्त वापसी की.

बांग्लादेश की महिला टीम ने रचा इतिहास, टी20 मैच में 249 रनों की जीत दर्ज की 2

मात्र 6 रनों पर आलआउट हो गयी मालदीव की टीम

बांग्लादेश

इस बड़े लक्ष्य का पीछा करने उतरी मालदीव की टीम कभी भी जीत के लिए नहीं गयी. वो टेस्ट क्रिकेट की तरह मैच को खेलते रहे. मालदीव के लिए 8 बल्लेबाज अपना खाता भी नहीं खोल पाए. टीम के लिए सर्वश्रेष्ठ स्कोर 2 रन रहा जो दसवे नंबर की बल्लेबाज शमा अली ने बनाया था. बांग्लादेश ने 4 अतिरिक्त रन दिए थे.

नयी टीम मालदीव ने पूरे 12.1 ओवर बल्लेबाजी की थी. मालदीव के 5 बल्लेबाज तो बोल्ड आउट हुए थे. बांग्लादेश की ओर से रितु मोनी और सलमा खातून ने सबसे ज्‍यादा 3-3 विकेट बटोरे. रितु ने 4 ओवर में 3 मेडन डाले और 1 रन दिया. वहीं सलमा ने 3.1 ओवर में 1 मेडन डाला और 2 रन दिए. नाहिदा अख्‍तर और पूजा चक्रबर्ती को 1-1 विकेट मिला.

साउथ एशियन गेम्स का हिस्सा है ये मैच

बांग्लादेश की महिला टीम ने रचा इतिहास, टी20 मैच में 249 रनों की जीत दर्ज की 3

ये मैच साउथ एशियन गेम्स का हिस्सा है. जहाँ पर बांग्लादेश की टीम ने बहुत अच्छा किया है. बांग्‍लादेश की यह लगातार तीसरी जीत है और वह अंकतालिका में टॉप पर है. जबकि मालदीव की टीम बहुत ही ख़राब फॉर्म से गुजर रही है. जिसके कारण वो फ़ाइनल तक पहुँचने की उम्मीद खत्म हो चुकी है.