भारत के विरुद्ध टेस्ट खेलकर बांग्लादेश टीम को अनुभव हासिल करेगी: रवि शास्त्री

Gautam / 08 February 2017

पूर्व भारतीय कप्तान रवि शास्त्री का कहना है, कि भारत के विरुद्ध टेस्ट खेलने से बांग्लादेश को बेहद अधिक अनुभव हासिल होगा.

बांग्लादेश ने पिछले कुछ वर्षो में सिमित ओवरों के क्रिकेट में बेहद शानदार प्रदर्शन किया है, लेकिन रवि शास्त्री का कहना है कि नंबर एक टेस्ट टीम के साथ टेस्ट खेलना बांग्लादेश के लिए एक अलग अनुभव होगा. न्यूज़ीलैण्ड के विरुद्ध 2-0 से टेस्ट सीरीज हारने के बाद बांग्लादेश के टीम 9 फ़रवरी को विराट कोहली की कप्तानी वाली इनफॉर्म भारतीय टीम के सामने होगी.महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी को लेकर शास्त्री ने साधा गांगुली पर निशाना

बैंगलोर में मंगलवार को एक प्रचार कार्यक्रम में शास्त्री ने कहा,

“क्रिकेट के छोटे प्रारूप में बांग्लादेश ने तेजी से प्रगति की हैं, लेकिन टेस्ट टेस्ट हैं और मुझे यकीन है कि यह उनके लिए एक परीक्षण होगा. भारत उन्हें हल्के नहीं लेगा और वे(भारतीय टीम) अपना सर्वश्रेठ देगे. पिछले कुछ वर्षो से जिस तरह से भारतीय टीम खेल रही है, वह तारीफ़ के काबिल हैं.”

आगे शास्त्री ने कहा,

“भारत के विरुद्ध टेस्ट खेलने से बांग्लादेश को अनुभव हासिल होगा. टेस्ट क्रिकेट में बांग्लादेश की टीम अनुभवहीन हैं, वे एकदिवसीय क्रिकेट में बेहद अच्छी टीम हैं. क्योंकि बांग्लादेश टीम का ध्यान टेस्ट से ज्यादा सिमित ओवरों के क्रिकेट की और केन्द्रित रहा हैं. उनकी सबसे बड़ी खामी है, कि वह एक या दो सेशन में तो अच्छा करते है, लेकिन एक या दो दिन तक वो इस लय को बरक़रार नहीं रख सकते, जिससे उन्हें टेस्ट मैच में जीत मिले. यही कारण है, कि भारत के विरुद्ध उनकी परीक्षा होगी. खेल में उनकी प्रतिभा और जनून पर किसी को कोई शक नहीं हैं.”

भारतीय टीम के पूर्व डायरेक्टर शास्त्री ने यह भी भविष्यवाणी की हैं, कि भारत-ऑस्ट्रेलिया के बीच खेली जाने वाली 4 टेस्ट मैचो की सीरीज भी एक अच्छी सीरीज होगी. न्यूज़ीलैण्ड और इंग्लैंड को 3-0 और 4-0 से हराने के बाद भारतीय टीम के हौसले बुलंद हैं.रवि शास्त्री ने जारी की सर्वश्रेष्ठ भारतीय कप्तानों की सूचि, लेकिन गांगुली का नाम है नदारद

शास्त्री ने कहा, “यह एक अच्छी सीरीज होगी. यह इंग्लैंड के थोड़े ज्यादा आक्रामक हैं. लेकिन भारत में भारत कितना मजबूत हैं यह सब जानते हैं. अगर गेंद टर्न हुई तो नतीज़ा इंग्लैंड सीरीज की तरह ही देखने को मिलेगा”.

पिछली कुछ सीरीज से भारत के सलामी बल्लेबाज़ केएल राहुल की फॉर्म में कई उतार चढ़ाव देखने को मिले हैं. युवा सलामी बल्लेबाज़ राहुल की प्रसंशा करते हुए शास्त्री ने कहा,

“तुम्हे उसके साथ धैर्य रखना होगा. उनके पास ख़ास कला हैं. वह एक गंभीर प्रतिभा हैं. तुम्हे उसे समय देने की जरुरत हैं. मुझे लगता है, कि राहुल अपनी गेम समझते हैं, जोकि वह अब कर रहा हैं. पारी की शुरुआत के दौरान उन्हें थोड़ी समस्या होती हैं. वह अपने खेल को समझता हैं और अपनी ताकत के साथ खेलता हैं. जल्द ही वह जबरदस्त क्षमता के साथ खेलते हुए दिखाई देगे.”

पिछले वर्ष इंग्लैंड के विरुद्ध चेन्नई टेस्ट में तिहरा शतक लगाने वाले करुण नायर के बारे में शास्त्री ने कहा,

“किसी को उम्मीद नहीं थी, कि करुण 300 बनाएगे. कितने खिलाड़ियों ने 300 बनाएं हैं? यहाँ तक की कई महान खिलाड़ी भी 300 बनाने में नाकाम रहे हैं. सिर्फ सहवाग ने 2 बार 300 बनाए हैं, इसके आलावा किसी भारतीय ने तिहरा शतक नहीं लगाया हैं. यह झूठ होगा, कि आप कहे, कि आप आश्चर्यचकित नहीं हुए. हम सब हैरान थे. तुम्हारे लिए टेस्ट क्रिकेट में इससे अच्छी शुरुआत नहीं हो सकती हैं. करुण को अच्छी शुरुआत मिल गई है, उन्हें अब इसे आगे ले जाने की जरुरत हैं.”