बीसीसीआई ने क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया पर लगाया ब्लैकमेल करने का आरोप

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

महिला आईपीएल में नहीं नजर आएगी कोई ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी, बीसीसीआई ने क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया पर लगाया ‘ब्लैकमेल’ करने का आरोप 

महिला आईपीएल में नहीं नजर आएगी कोई ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी, बीसीसीआई ने क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया पर लगाया ‘ब्लैकमेल’ करने का आरोप

महिला आईपीएल के लिए बीसीसीआई ने तीन टीमों की घोषणा कर दी है। सुपरनोवा, ट्रेलब्लाजर्स और वेलोसिटी टीमों में 13-13 खिलाड़ियों को जगह मिली है। मिताली राज, हरमनप्रीत कौर और स्मृति मंधाना को इन टीमों का कप्तान बनाया गया है। इसमें भारत समेत न्यूजीलैंड, इंग्लैंड, श्रीलंका, वेस्टइंडीज और बांग्लादेश के खिलाड़ी शामिल हैं।

ऑस्ट्रेलिया के खिलाड़ियों को जगह नहीं

महिला आईपीएल में नहीं नजर आएगी कोई ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी, बीसीसीआई ने क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया पर लगाया 'ब्लैकमेल' करने का आरोप 1

टी-20 विश्व विजेता ऑस्ट्रेलिया के किसी भी खिलाड़ी को इस लीग में जगह नहीं मिली है। मेग लैनिंग, एलिसा पैरी और एलिसा हीली जैसे खिलाड़ियों की गिनती टी-20 की बेहतरीन क्रिकेटर में की जाती है।

बीसीसीसआई का कहना है कि क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ‘ब्लैकमेल’ कर रहा था। ऑस्ट्रेलिया की तीन खिलाड़ियों मेग लैनिंग, एलिसी पैरी और एलिसा हीली को महिला आईपीएल में हिस्सा लेना था लेकिन क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने उन्हें रोक दिया।

क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने किया ईमेल

महिला आईपीएल में नहीं नजर आएगी कोई ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी, बीसीसीआई ने क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया पर लगाया 'ब्लैकमेल' करने का आरोप 2

इस मामले को लेकर क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया में बीसीसीआई को मेल भेजा है। पीटीआई के पास क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया की अधिकारी बेलिनडा क्लार्क द्वारा भेजा गया इमेल है। इसमें उन्होंने लिखा है

“हम अनुरोध पर तभी विचार करने की स्थिति में रहेंगे जबकि जनवरी 2020 के आखिर में एफटीपी के अनुसार होने वाली पुरुष वनडे सीरीज के जुड़े वर्तमान मामले को राहुल (बीसीसीआई सीईओ राहुल जोहरी) और केविन (सीए सीईओ केविन रॉबर्ट्स) सुलझा नहीं देते। मुझे लगता है कि अभी इस पर काम चल रहा है।”

ब्लैकमेल की रणनीति

महिला आईपीएल में नहीं नजर आएगी कोई ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी, बीसीसीआई ने क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया पर लगाया 'ब्लैकमेल' करने का आरोप 2

 

बीसीसीआई ने सीए पर ब्लैकमेल करने का आरोप लगाया है। बोर्ड के अनुसार पुरुष और महिला क्रिकेट को आपस में नहीं जोड़ा जाना चाहिए। बीसीसीआई के सीनियर अधिकारी ने पीटीआई से कहा

“अगर आप बेलिंडा के पत्र की विषय वस्तु को देखें तो स्पष्ट है कि वे ब्लैकमेल की रणनीति अपना रहे हैं। महिला खिलाड़ियों को अनुमति देने को कैसे पुरुष सीरीज से जोड़ा जा सकता है। यह एफटीपी में स्वीकार किया गया है और अब वे उससे पीछे हट रहे हैं। पुरुष क्रिकेट से जुड़े मसले को निबटाने के लिए महिला खिलाड़ियों को मोहरा बनाना गलत है।”

 

अगर आपको हमारा आर्टिकल पसंद आया, तो प्लीज इसे लाइक करें। अपने दोस्तों तक ये खबर सबसे पहले पहुंचाने के लिए शेयर करें और साथ ही अगर आप कोई सुझाव देना चाहते हैं, तो प्लीज कमेंट करें। अगर आपने अब तक हमारा पेज लाइक नहीं किया हैं, तो कृपया अभी लाइक करें, जिससे लेटेस्ट अपडेट हम आपको जल्दी पहुंचा सकें।

Related posts