बैंगलोर टेस्ट जीत के बाद भी इसे टीम से जोड़ना चाहता है बीसीसीआई | Sportzwiki Hindi

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

बैंगलोर टेस्ट जीत के बाद भी इसे टीम से जोड़ना चाहता है बीसीसीआई 

बैंगलोर टेस्ट जीत के बाद भी इसे टीम से जोड़ना चाहता है बीसीसीआई

बीसीसीआई ने अभी जल्द में एक बैठक में एक नया कदम उठाया है, जिसमें उन्होंने सभी राज्य संघो से कहा है, कि हर राज्य में युवा खिलाड़ियों के लिए अच्छे अच्छे मनोचिकित्सक भर्ती किये जायें, ताकि उनकी मदद से युवा खिलाड़ी दबाव को अच्छे से हैंडल करने का अभ्यास करना सीख सकें. डीआरएस विवाद पर विराट कोहली को मिला बीसीसीआई का साथ

बीसीसीआई ने यह कदम छोटे स्तर के क्रिकेट के लिए भी उठाया है, जिसमें अंडर-14 और अंडर-16 के खिलाड़ियों को भी शामिल किया गया है. बीसीसीआई का कहना है, कि कुछ समय से अंडर-14 और अंडर-16 के खिलाड़ियों की गिनती में कमी होती जा रही है, कुछ परिवार की वजह से और कुछ अपने पढ़ाई की वजह से, इसलिए हम ऐसे मनोचिकित्सक चाहते है, जो ज्यादा से ज्यादा नए टैलेंट को मौका दे सकें.

बेंगलुरू में हुयी बैठक में इस बात को लेकर बात हुई, कि युवा खिलाड़ी बहुत जल्दी से क्रिकेट को छोड़कर चले जा रहे है, जिसमें कुछ ऐसे भी है, जो सिर्फ ख़राब प्रदर्शन होने की वजह से ही क्रिकेट छोड़कर चले जाते है, क्योंकि उन्हें क्रिकेट में आगे अपने भविष्य से डर लगने लगता है, इसलिए हम चाहते है, कि ऐसे मनोचिकित्सक भर्ती किये जायें, जो इस तरह के युवा खिलाड़ियों की मदद कर सकें और उन्हें इस तरह को दबाव को झेलने के बारे में भी समझाएं. डीआरएस विवाद को लेकर स्मिथ के साथ यह दिग्गज भी फँसा मुसीबत में, बीसीसीआई ने किया राँची टेस्ट से बाहर करने की घोषणा

बीसीसीआई ने यह भी कहा, कि वह इसके लिए राज्यों को 1 लाख रुपये महीने ज्यादा देगी और चाहेगी, कि जल्द ही इस पर काम किया जाये. बीसीसीआई चाहती है, कि मनोचिकित्सक के साथ युवा खिलाड़ियों का 8 हफ्ते का ट्रेनिंग कैंप किया जाये. जिसमें शुरू के 6 हफ्ते खिलाड़ियों की फिजिकल ट्रेनिंग और आखिरी के 2 हफ्तों में खिलाड़ियों की स्किल्स पर काम किया जायेगा.

Related posts