IND vs SA ODI Predicted Playing XI of team india For The 1st ODI

क्रिकेट जगत के सबसे अमीर बोर्ड भारतीय क्रिकेट कन्ट्रोल बोर्ड यानी बीसीसीआई अब कुछ ही दिनों में साल 2022 का सेन्ट्रल कॉन्ट्रेक्ट जारी करने जा रही है। हर साल बीसीसीआई की तरफ से मार्च-अप्रैल के महीनें में भारतीय क्रिकेट टीम के सालाना अनुबंध की घोषणा होती है, जो इस बार भी होने जा रही है।

बीसीसीआई के सालाना कॉन्ट्रेक्ट में इन 2 खिलाड़ियों पर गिरेगी गाज!

इस साल भारतीय  क्रिकेटर्स के होने वाले सालाना अनुबंध में खिलाड़ियों के नामों को लेकर रिपोर्ट में एक बड़ी खबर निकलकर सामने आ रही है, जहां टीम इंडिया के कुछ दिग्गजों का डिमोशन हो सकता है।

BCCI postponed cooch behar tournament due to Covid19 board gave information

जिसमें खबरों के मुताबिक सबसे प्रमुखता से भारत के 2 अनुभवी सीनियर खिलाड़ियों का नाम सामने आ रहा है, जिसमें पिछले काफी समय से खराब फॉर्म में चल रहे अजिंक्य रहाणे और चेतेश्वर पुजारा पर गाज गिर सकती है, जो फिलहाल ए श्रेणी में हैं।

पुजारा-रहाणे का डिमोशन माना जा रहा है तय

बीसीसीआई की तरफ से 4 श्रेणियों में क्रिकेटर्स को सालाना अनुबंध किया जाता है, जिसमें ए प्लस श्रेणी के खिलाड़ियों को 7 करोड़ सालाना, ए श्रेणी के खिलाड़ियों को 5 करोड़, बी श्रेणी के खिलाड़ियों को 3 करोड़ व सी श्रेणी के खिलाड़ियों को 1 करोड़ रुपये वार्षिक दिया जाता है।

बीसीसीआई जल्द ही जारी करने जा रहा है इस साल का सेन्ट्रल कॉन्ट्रेक्ट, इन खिलाड़ियों का बाहर होना तय 1

इन खिलाड़ियों की बात करें तो ए प्लस श्रेणी में केवल 3 खिलाड़ी हैं जिसमें विराट कोहली, रोहित शर्मा और जसप्रीत बुमराह का नाम शामिल है, तो वहीं बी श्रेणी में अजिंक्य रहाणे और चेतेश्वर पुजारा का नाम है, लेकिन अब लगता है कि पुजारा और रहाणे बी श्रेणी में भी जा सकते हैं।

पंत और राहुल बना सकते हैं ए प्लस में जगह

वहीं ये भी खबरें मिली है कि भारत के लिए पिछले कुछ समय से तीनों ही फॉर्मेट में जगह स्थापित करने वाले केएल राहुल और ऋषभ पंत का प्रमोशन किया जा सकता है, दोनों ही खिलाड़ियों को फ्यूचर कैप्टन के रूप में भी देखा जा रहा है।

Bcci want to make kl rahul test captain after virat kohli step down as test captain

बीसीसीआई से जुड़े एक सूत्र ने पीटीआई के हवाले से कहा कि

“जाहिर है, रोहित, कोहली और बुमराह तीन अनिवार्य खिलाड़ी होने के नाते ए प्लस श्रेणी में होंगे, लेकिन अब राहुल और पंत धीरे-धीरे खुद को ऑल-फॉर्मेट रेगुलर के रूप में स्थापित कर रहे हैं, इसलिए ये देखना होगा कि दोनों को प्रमोशन मिलता है या नहीं।”

सूत्रों की तरफ से आगे कहा गया कि

“सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट इस बात का एक प्रदर्शन संकेतक है कि आप पिछले सीजन के दौरान अपने प्रदर्शन के अनुसार कहां खड़े हैं। अगर बीसीसीआई और मुख्य कोच (राहुल) द्रविड़ दोनों को सम्मानित करने और उन्हें ग्रुप ए में रखने का फैसला करते हैं, तो ये एक अलग मुद्दा है, लेकिन सामान्य परिस्थितियों में, वे आदर्श रूप से ग्रुप ए में शामिल नहीं होंगे।” 

वहीं इसके अलावा हार्दिक पंड्या और ईशांत शर्मा के कॉन्ट्रेक्ट में भी डिमोशन की पूरी संभावना है। जो पिछले कुछ समय से खराब फिटनेस से गुजर रहे हैं, बात करें और खिलाड़ियों को जोड़ने की तो इसमें शार्दुल ठाकुर और वेंकटेश अय्यर को शामिल किया जा सकता है।