सौरव गांगुली

भारतीय क्रिकेट इन दिनों पूरे सुचारू ढंग के साथ आगे बढ़ता जा रहा है। एक तरफ प्रशासक के रूप में भारतीय क्रिकेट की बागडोर सौरव गांगुली के हाथ में है जो लगातार एक के बाद एक नए फैसले लेते जा रहे हैं तो वहीं भारतीय क्रिकेट टीम की फिटनेस प्रक्रिया में सपोर्ट करने के लिए बैंगलुरू स्थित एनसीएक का जिम्मा राहुल द्रविड़ के पास है।

सौरव गांगुली ने राहुल द्रविड़ से मिलने के बाद लिया है बड़ा फैसला

ये दोनों ही दिग्गज खिलाड़ी एक दूसरे के साथ सामंस्यता के साथ भारतीय क्रिकेट के लिए बेहतर काम कर रहे हैं। राहुल द्रविड़ नेशनल क्रिकेट एकेडमी के मुख्य हैं जिनकी देख-रेख में खिलाड़ी प्रैक्टिस करने के साथ ही फिटनेस पर काम करते हैं।

सौरव गांगुली

इसी तरह से हाल में जसप्रीत बुमराह अपनी पिछली लंबी चोट के बाद आगामी दौरे पर वापसी कर रहे हैं जिनको सीधे तौर पर रणजी मैच में उतरकर फिटनेस टेस्ट दिखाना था  तो वहीं बुमराह ने एनसीए में फिटनेस टेस्ट पास करने से इनकार कर दिया था।

बीसीसीआई चीफ सौरव गांगुली ने राहुल द्रविड़ के साथ मीटिंग कर एनसीए पर लिया ये फैसला 1

सौरव गांगुली की दो-टूक, हर गेंदबाज को एनसीए में दिखानी होगी फिटनेस टेस्ट

लेकिन सौरव गांगुली ने साफ शब्दों में कहा कि सभी खिलाड़ी को पुर्नवास की प्रक्रिया के लिए नेशनल क्रिकेट एकेडमी में जाना होगा। एनसीए के प्रमुख राहुल द्रविड़ के साथ मुलाकात करने के बाद सौरव गांगुली ने कहा कि

सौरव गांगुली

“मैं कल राहुल द्रविड़ से मिला था और हमने एक प्रणाली लगाई है। गेंदबाजों को एनसीए जाना होगा। अगर किसी को इलाज कराना है तो उन्हें एनसीए में आना होगा।”

एनसीए में सभी खिलाड़ी अपने आपको करें सहज महसूस

सौरव गांगुली ने आगे कहा कि “जो भी कारण हो सकता है हम सब कुछ समायोजित करेंगे। हम ये भी सुनिश्चित करेंगे कि खिलाड़ी सहज हों और वे बाएं या बाहर का महसूस ना करें। इसलिए हम इसे उसी तरह से करेंगे।”

बीसीसीआई चीफ सौरव गांगुली ने राहुल द्रविड़ के साथ मीटिंग कर एनसीए पर लिया ये फैसला 2

“हम एनसीए के साथ पूर्ण रूप से काम कर रहे हैं। निर्माण कार्य शुरू होगा और ये एक अत्याधुनिक इकाई होगी। 18 महीनें के समय में, अगर हम अभी भी वहां हैं तो आप एक एनआईए देखेंगे। “