अम्पायर्स की गलतियों से परेशान बीसीसीआई ने जारी किया सख्त आदेश, बढ़ सकती है अम्पायर्स की मुश्किलें 1

आईपीएल के इस नए सीजन में इस बार अंपायर्स के फैसलों को लेकर काफी सवाल उठ रहे हैं। इस टूर्नामेंट में दिख रहा है कि अंपायर्स फिल्ड पर निर्णय लेने में काफी गलतियां कर रहे हैं। अंपायरिंग का स्टैंडर्ड इस साल वैसा नहीं है जैसा कि पहले और पिछले सालों में रहा है। ऐसे में बीसीसीआई ने मैच रेफरी को सलाह दी है कि वो इस मामले में अंपायर्स से कम से कम बात करें। उन्हें बोले कि संदेह की स्थिति में अंपायर्स तकनीक का उपयोग करें।

आईपीएल में अंपायर्स के गलत फैसले

Image result for umpires in ipl 2018

आपको बता दें कि इस आईपीएल सीजन में डीआरएस का उपयोग भी किया जा रहा है। आईपीएल में पहली बार डीआरएस सिस्टम की सुविधा लाई गई है। हर मैच में दोनों टीम के पास एक-एक डीआरएस रहता है।

टाइम्स ऑफ इंडिया के सूत्रों के मुताबिक दिल्ली और पंजाब के बीज दिल्ली के फिरोजशाह कोटला स्टेडियम में हुए मैच के दौरान

आईपीएल के चेयरमैन राजिव शुक्ला ने कहा कि,

“अंपायर्स से गलतियां ना हो ऐसा असंभव है, लेकिन अंपायर्स को थोड़ा ज्यादा सर्तक रहना चाहिए और मैच रेफरी को कम से कम अंपायर्स को सर्तक रहने के लिए बोलना चाहिए। इस स्तर के टूर्नामेंट में इतनी प्राथमिकता वाली गलतियां नहीं होनी चाहिए.”

अम्पायर्स की गलतियों से परेशान बीसीसीआई ने जारी किया सख्त आदेश, बढ़ सकती है अम्पायर्स की मुश्किलें 2

उन्होंने कहा कि,

“अगर अंपायर्स के मन में किसी निर्णय को लेकर शंका है तो उन्हें आधुनिक तकनीक का उपयोग करना चाहिए और रेफरी को उन्हें ऐसी तकनीक का उपयोग करने के लिए कहना चाहिए.”

अंपायर्स की छोटी-छोटी गलती

Image result for umpires in ipl 2018

इस सीजन में अंपायर्स की गलतियों का आलम ऐसा है कि कुछ दिन पहले सनराइजर्स हैदराबाद और राजस्थान रॉयल्स के बीच हुए मैच के दौरान एक वक्त ऑन फिल्ड अंपायर्स ओवर में कितनी गेंद फेंकी गई ये तक भूल गए थे। इसके अलावा एक मैच में बल्लेबाज ने एक शॉट मारा, गेंद को सीमा रेखा पर फिल्डर ने बेहतरीन फिल्डिंग करके रोका.

थर्ड अंपायर ने देखा, जांचा और परखा कि बॉल सीमा रेखा में टच नहीं हुई और अंपायर के यह संदेश भेजा, लेकिन अंपायर का ध्यान ना जाने कहां था उन्होंने उस शॉट को बाउंड्री करार दे दी। फिर माफी मांगकर अंपायर ने अपना फैसला बदला।

Leave a comment