शानदार प्रदर्शन कर नंबर एक टीम बनने के बाद भी बीसीसीआई ने विराट समेत पूरी टीम इंडिया के साथ किया कुछ ऐसा, जिसकी उम्मीद किसी को नहीं थी 1

दुनिया का सबसे अमिर क्रिकेट बोर्ड भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के बारे में यह खबर आ रही है, कि बीसीसीआइ ने 13 टेस्ट लंबे घरेलू सीजन खेलने वाली भारतीय पुरुष टीम व महिला टीम के कुछ खिलाड़ियों को पिछले छह महीनो से वेतन नहीं दिया है.IPL10: गुजरात बनाम पंजाब ये रहे मैच के 5 बड़े निर्णायक क्षण

बीसीसीआई वर्तमान समय में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट काउंसिल (आईसीसी) और उसके अन्य सदस्यों के खिलाफ राजस्व और प्रशासन ढांचे के खिलाफ लड़ाई लड़ रहा है. अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) और भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के दो धुरंधरों की व्यक्तिगत लड़ाई अब दो संस्थाओं की लड़ाई में तब्दील हो गई है.

पूर्व बीसीसीआइ व आइसीसी अध्यक्ष एन श्रीनिवासन के सहयोगी किसी भी कीमत पर पूर्व बीसीसीआइ अध्यक्ष और वर्तमान आइसीसी चेयरमैन शशांक मनोहर के फैसलों को मानने को तैयार नहीं हैं. यही कारण है, क्रिकेट की सर्वोच्च संस्था में कभी सर्वेसर्वा रहा भारतीय बोर्ड अब अलग थलग पड़ गया है.

और इसी बीच अब ये खबर आने से बीसीसीआई  के रुतबे पर एक बड़ा धब्बा लगा है, इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) की सीजन से पहले, भारत ने न्यूजीलैंड, इंग्लैंड, बांग्लादेश और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ कुल 13 टेस्ट मैच खेले थे और शानदार प्रदर्शन किया था. मगर इसके बावजूद भी भारतीय खिलाडियों को उनका भुगतान नहीं मिला.

एक नियमित टीम इंडिया क्रिकेटर ने इंडियन एक्सप्रेस से कहाआम तौर पर, हमें एक महीने या 15 दिनों के भीतर हमें एक टेस्ट मैच के लिए हमारा भुगतान  मिल जाता था, लेकिन इस बार लंबे समय तक हमें यह नहीं मिल पाया है. हमें नहीं पता, कि इसका कारण क्या है. लेकिन ऐसी देरी पहले कभी नहीं हुई है.”IPL10: RPS vs KKR: कोलकाता नाइट राइडर्स ने टॉस जीता पहले गेंदबाज़ी करने का फैसला किया

गौरतलब है, कि बीसीसीआई आईसीसी से विवाद में पहले ही परेशान है. अब इस खिलाडी द्वारा आये इस बयान ने बीसीसीआई की मुश्किले और बड़ा दी है.

vineetarya

cricket is my first and last love, I know cricket only cricket, I love watching cricket because cricket is my passion and my passion is my work my favourite player Mike Hussey and Kl Rahul