इस वर्ष इंडियन प्रीमियर लीग(आईपीएल) के दौरान बीसीसीआई ने 6 पूर्व महिला क्रिकेटर्स को पुरस्कृत किया था. सभी 6 खिलाड़ियों को भारतीय महिला क्रिकेट में उनके योगदान के लिए पुरस्कृत किया गया था. निर्णय प्रशासक समिति (सीओए) ने दीपा कुलकर्णी, संगीता दबीर और अरुंधती घोष को 25-25 लाख, जबकि डायना एडलजी सीओए की सदस्य की बहन बेहौज एडलजी,सुनीता सिंह और वृंदा भगत को 15-15 लाख की पुरस्कार राशी से सम्मानित किया गया था.

अन्य महिला खिलाड़ियों ने भी की पुरस्कार की मांग

@BCCI

बीसीसीआई द्वारा आयोजित यह इवेंट अन्य महिला खिलाड़ियों को पसंद नहीं आया है. खबरों के अनुसार 5-6 अन्य महिला खिलाड़ियों ने बीसीसीआई को आवेदन किया हैं और साथ ही यह भी पूछा है, कि किस आधार पर पुरस्कृत की गई महिला खिलाड़ियों को चुना गया था. इन खिलाड़ियों ने यह भी कहा कि उन खिलाड़ियों ने भी पुरस्कृत की गई महिला खिलाड़ियों की तरह महिला क्रिकेट के लिए अपना सर्वश्रेठ योगदान दिया था, लेकिन बीसीसीआई के कुछ अधिकारियो ने उनका अपमान किया हैं.   पहले धोनी-युवराज और अब इस खिलाड़ी के प्यार में पड़ी दीपिका पादुकोण, रणवीर को दे रही है धोखा!

यहाँ है एक और समस्या

@BCCI

बीसीसीआई के लिए समस्या यही खत्म नहीं हुई हैं. सीओए ने फ़ैसला किया है, कि जिन-जिन महिला खिलाड़ियों ने एक से चार टेस्ट खेले है उन्हें 15000 रूपए का पुरस्कार किया गए, जबकि 10 या उससे अधिक टेस्ट खेलने वाली खिलाड़ियों को 22500 रूपए का पुरस्कार दिया जाए. सीओए के फ़ैसले को अभी तक कोषाध्यक्ष द्वारा पास नहीं किया गया है, लेकिन अधिकारियों ने पहले से ही समस्याओं का सामना करना शुरू कर दिया है. कई पूर्व क्रिकेटरों ने पहले ही पेंशन के लिए आवेदन करना शुरू कर दिया है.    वीडियो: युवराज सिंह के मना करने के बाद भी पत्नी हेजल कीच ने वायरल किया युवराज के साथ अपनी निजी वीडियो

एक समस्या यह भी है पहले महिला खिलाड़ी भारतीय महिला क्रिकेट संघ (डब्लूसीएआई) के तहत खेलती थी. बाद में जिसमे  बीसीसीआई ने बदलाव किया था, लेकिन उनके पास इसका कोई रिकॉर्ड नहीं है की कौन से खिलाड़ी इस स्कीम के लिए को मान्य हैं, और इसलिए कोई भी नहीं जानता कि क्या वे वास्तव में भारत के लिए खेली है भी या नहीं.

महिला खिलाड़ियों को पुरस्कृत करने से लिए तैयार नहीं था बीसीसीआई

@IPL

बोर्ड के अधिकारियों के मुताबिक, बोर्ड क्रिकेटरों को एक बार भुगतान(वन टाइम भुगतान) करने के लिए तैयार नहीं था. यह यह एक ऐसी पॉलिसी थी, जिस पर केवल बीसीसीआई निर्णय कर सकता था, लेकिन सीएए ने निर्णय लिया है. सुनीता और वृंदा ने सिर्फ कुछ टेस्ट खेले हैं जबकि बिहरोज की बहन ने सिर्फ एक टेस्ट खेला था.    एलिस्टर कुक ने सचिन और इमरान सहित दिग्गज भारतीय खिलाड़ियों का किया अपमान नहीं दी अपनी ड्रीम xi में जगह

बोर्ड के एक अधिकारी ने हिंदुस्तान टाइम्स से बात करते हुए कहा, “यही चीज़ पेशन के साथ भी हुई है, क्योंकि यह एक निति निर्णय है और इस पर फ़ैसला जनरल बॉडी को अपने स्तर पर लेना होता हैं.”

आगे अधिकारी ने बताया, “इस पर फ़ैसला लेते समय सीओए ने गंभीरता से ध्यान नहीं दिया.”

Related Articles

gary-kirsten-says-duncan-fletcher-should-get-credit-for-helping-india-through-the-transition-phase

4 साल बाद आखिरकार सामने आई वो वजह जिसकी वजह से आज भी है...

इन दिनों टीम इण्डिया के सबसे सफल कोच गैरी कस्टर्न ने हालिया टीम के प्रदर्शन और बदलाव को देखते हुए अपनी प्रतिक्रिया दी है....

ट्रेंट बोल्ट द्वारा लिए गए चमत्कारिक कैच को माइकल वान, शेन वार्न और बेन...

आईपीएल के दौरान कई अच्छे कैच हमें देखने को मिलते हैं. शनिवार को दिल्ली डेयरडेविल्स और रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के बीच चिन्नास्वामी स्टेडियम में...

PLAYING XI: लगातार 2 मैच जीत चुकी किंग्स XI पंजाब की टीम में शामिल...

किंग्स इलेवन पंजाब की टीम और चेन्नई सुपर किंग की टीम के बीच आईपीएल 2018 का 22वां मैच दिल्ली के फिरोजशाह कोटला स्टेडियम में...

विराट कोहली का इंग्लैंड मिशन शुरू इशांत ने पहले गेंद से और अब बल्ले...

भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली अपने करियर में अब तक कई ऐतिहासिक कारनामें कर चुके हैं। विराट कोहली इंटरनेशनल क्रिकेट में तो...

जोफ्रा आर्चर के सामने ढेर हुए मुंबई इंडियंस के शेर,राजस्थान को जीत के लिए...

जयपुर के सवाई मानसिंह क्रिकेट स्टेडियम में राजस्थान रॉयल्स और मुंबई इंडियंस आमने-सामने हैं। मुंबई इंडियंस ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला...