महेंद्र सिंह धोनी को बीसीसीआई ने बताया की इन कारणों से वह नहीं हो सकते वेस्टइंडीज

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

REPORTS: टीम चयन से पहले बीसीसीआई और धोनी के बीच हुई थी ये बात 

REPORTS: टीम चयन से पहले बीसीसीआई और धोनी के बीच हुई थी ये बात

विश्व कप के बाद से महेद्र सिंह धोनी को लेकर काफी चर्चाये की गई उनके संन्यास को लेकर काफी अटकलें लगाई गई और उसके बाद सबकी नज़रें थी की क्या धोनी अब वेस्टइंडीज टूर में देखने को मिलेंगे या नहीं, इसके लि टीओआई की एक रिपोर्ट बताती है कि सेलेक्टर्स ने महेंद्र सिंह धोनी को अभी टीम का हिस्सा नहीं बनाने की बात बताई है, क्योंकि टीम अब युवा खिलाड़ियों के साथ मैदान पर उतरना चाहती है.

महेंद्र सिंह धोनी को लेकर ऐसी लगाई गई थी अटकलें

महेंद्र सिंह धोनी

विश्व कप 2019 को धोनी का आखिरी अंतरराष्ट्रीय मैच बताया जा रहा था, लेकिन  धोनी ने इसके बाद भी अपनी संन्यास की कोई बात नहीं बताई. अब वह दो महीने की अवधि के लिए भारतीय सेना में शामिल होंगे और खेल से दूर रहेंगे. इसलिए अगले दो महीनों के लिए धोनी के भविष्य के बारे में किसी भी खबर की उम्मीद नहीं की जानी चाहिए.

सितंबर के महीने में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ घरेलू श्रृंखला शुरू होने से पहले उनके बारे में एक अपडेट दिए जाने की उम्मीद है. धोनी ने वेस्टइंडीज के खिलाफ सीरीज के लिए खुद को उपलब्ध बताया था, लेकिन उन्हें बीसीसीआई ने छुट्टी दे दी थी.

धोनी की जगह लेगा यह खिलाड़ी

महेंद्र सिंह धोनी

वेस्टइंडीज टूर के लिए तो टीम का चयन हो गया है और धोनी इसका हिस्सा नहीं है. धोनी के संन्यास से पहले भी ऐसा बोला गया था कि वह संन्यास लेने के बाद क्रिकेट से दूरी बढ़ा लेंगे. उनकी अनुपस्थिति में, ऋषभ पंत ने अपने करियर में पहली बार सभी फ़ॉर्मेट में बतौर विकेटकीपर खेलेंगे और अपने विकेटकीपिंग से सबको चौका देंगे. अब इस टूर के लिए टीम में कोई दूसरा विकेटकीपर नहीं है, क्योंकि चयनकर्ताओं ने दिनेश कार्तिक को बाहर कर दिया है.

महेंद्र सिंह धोनी को बिपिन रावत ने दी यह अनुमति

महेंद्र सिंह धोनी

आर्मी प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने एमएस धोनी के पैराशूट रेजिमेंट की एक क्षेत्रीय सेना बटालियन के साथ प्रशिक्षण के लिए 2 महीने के लिए मंजूरी दे दी है, धोनी, मानद लेफ्टिनेंट कर्नल, पैराशूट रेजिमेंट बटालियन के साथ प्रशिक्षण प्राप्त करने के लिए अनुमति मांगी थी.

इस प्रशिक्षण का एक हिस्सा कश्मीर घाटी में होने की भी उम्मीद जताई जा रही है, लेकिन धोनी किसी भी ऑपरेशन का हिस्सा नहीं होंगे. धोनी को 2011 में एक लेफ्टिनेंट कर्नल के मानद रैंक से सम्मानित किया गया था, प्रादेशिक सेना की 106 इन्फैन्ट्री बटालियन के हैं. यह उन दो बटालियनों में से एक है जो सेना के पास पैराशूट रेजिमेंट के लिए है.

Related posts