Birmingham : Indian cricket captain Virat Kohli shakes hand with Pakistan's Shadab Khan at the end of the ICC Champions Trophy match between India and Pakistan at Edgbaston in Birmingham, England, Sunday, June 4, 2017. AP/PTI(AP6_5_2017_000003B)

भारतीय क्रिकेट टीम इन दिनों तो विश्व क्रिकेट में सबसे शानदार लय में नजर आ रही है। भारतीय टीम ने विराट कोहली की कप्तानी में पिछले कुछ महीनों में जबरदस्त कामयाबी हासिल की है। भारतीय टीम की इसी कामयाबी से भारतीय टीम विश्व क्रिकेट पर अपना रूतबा कामय कर रही हैं लेकिन इन सबके बीच भारतीय टीम को इस साल के अंत में दक्षिण अफ्रीका के एक मुश्किल दौरे पर जाना है।

भारतीय टीम के दक्षिण अफ्रीका दौरे को लेकर बीसीसीआई भी है गंभीर

भारतीय टीम को दक्षिण अफ्रीका के दौरे पर जबरदस्त चुनौती का सामना करना पड़ेगा इसमें तो कोई दो राय नहीं। विराट कोहली की अगुवायी वाली भारतीय टीम के साथ ही बीसीसीआई भी इस दौरे को लेकर बहुत ही गंभीर नजर आ रहा है। बीसीसीआई ने दक्षिण अफ्रीका दौरे को लेकर ही एक खास योजना बनायी है। जिसमें भारतीय टीम का श्रीलंका दौरा खत्म होते ही शिविर लगाया जा सकता है।

एजीएम में हो सकता है दक्षिण अफ्रीका दौरे से पहले शिविर पर चर्चा

बीसीसीआई की वार्षिक आम बैठक 1 दिसंबर को होनी है। बीसीसीआई की इस एजीएम में वैसे तो कई मुद्दों पर चर्चा तो की जाएगी साथ ही भारतीय टीम के दक्षिण अफ्रीका के महत्वपूर्ण दौरे को देखते हुए दौरे से बिल्कुल पहले शिविर लगाने पर चर्चा की जाएगी।

दक्षिण अफ्रीका दौरे से पहले शिविर का आयोजन संभव

बीसीसीआई के सचिव अमिताभ चौधरी ने शनिवार को इस बारे में जानकारी देते हुए कहा कि “दक्षिण अफ्रीका के दौरे से बिल्कुल पहले एक शिविर का आयोजन किया जाएगा। मै समझता हूं कि इस दौरान हमारे पास थोड़ा सा समय है लेकिन हम देखेंगे कि सबसे अच्छा क्या किया जा सकता है।”

आपको बता दे कि भारतीय टीम का श्रीलंका के खिलाफ मिशन 24 दिसंबर को पूरा होगा और भारत को 28 दिसंबर को दक्षिण अफ्रीका के लिए रवाना होना है।

वीडियो ऑफ द डे

भारत-पाक को लेकर अमिताभ चौधरी ने रखी अपनी राय

बीसीसीआई की इस एजीएम में भारतीय टीम के 2019 से लगाकर 2023 तक के फ्यूचर टूर प्रोग्राम पर भी चर्चा की जानी है, जिसमें भारतीय टीम का पाकिस्तान के साथ द्विपक्षीय सीरीज के बारे में जानना दिलचस्प रहेगा। इसको लेकर अमिताभ चौधरी ने कहा कि

अगर विश्वकप हो या कोई चैंपियनशीप हो जिसमें अगर 20 टीमें खेलती हैं, तो ये संभव है कि सभी टीमों को एक दूसरे के साथ खेलना होता है। और जाहिर तौर पर भारत-पाकिस्तान के बीच सीरीज इसमें बड़ा प्रभाव छोड़ती है। विश्वकप के अलावा भी सभी टीमों को आपस में खेलना जरूरी है। इसको लेकर देखते हैं।”

  • SHARE

    Related Articles

    FACT: WWE दिग्गज रेस्लरो का कर रही है अपमान, जानबूझकर हरा रही है हर...

    WWE हमेशा ही अपने दिग्गज रेस्लरो को सम्मान देने के लिए जानी जाती है लेकिन मौजूदा समय में WWE कई ऐसे गलत काम कर...

    चार दिवसीय टेस्ट मैच में दिखेगा कई अनोखे नियम, 26 दिसंबर को होगा साउथ...

    जिम्बाब्वे और साउथ अफ्रीका के बीच खेले जाने वाले चार दिवसीय टेस्ट मैच में क्रिकेट प्रशंसकों को नए नियम देखने को मिल सकते हैं। अभी...

    बड़ी खबर : चयनकर्ताओं ने 20 दिसंबर से शुरू होने वाली भारत-श्रीलंका टी20 सीरीज...

    भारतीय टीम और श्रीलंकाई टीम के बीच वनडे सीरीज के बाद 20 दिसंबर से तीन मैचों की टी20 सीरीज खेली जायेगी. जिसके लिए भारतीय...

    आज भी लोगो के सिर चढ़कर बोल रहा है सहवाग का जादू मैदान पर...

    भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व सलामी बल्लेबाज वीरेन्द्र सहवाग ने अपने करियर के दौरान दर्शकों का जमकर मनोरंजन किया है। वीरेन्द्र सहवाग की बल्लेबाजी...

    वीडियो : टी10 क्रिकेट में सहवाग की कप्तानी वाली भारतीय टीम के अफरीदी की...

    क्रिकेट का खेल साल 1877 में शुरू हुआ था, लेकिन क्रिकेट के पहले 94 सालों तक क्रिकेट में सिर्फ दो परियों में खेला जाने...