आपसी मतभेद भुलाकर क्या बीसीसीआई के अधिकारी मिलेंगे एन श्री निवासन से

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

पद बचाने के लिए एन श्रीनिवासन के शरण में पहुंचे बीसीसीआई अधिकारी, पहले किया था श्रीनिवासन का विरोध 

पद बचाने के लिए एन श्रीनिवासन के शरण में पहुंचे बीसीसीआई अधिकारी, पहले किया था श्रीनिवासन का विरोध

बीसीसीआई में चल रही खींचतान बंद होती नहीं दिखाई दे रही है. भले ही मामला सुप्रीम कोर्ट में चल रहा हो लेकिन बाहर मतभेद साफ़ तौर पर दिखाई दे रहे हैं. खबर आ रही है कि प्रशासकों की समित से खफा चल रहे बीसीसीआई के तीन प्रमुख अधिकारी आपसी मतभेदों को दरकिनार कर बीसीसीआई के पूर्व अध्यक्ष एन श्रीनिवासन के करीबियों से मुलाकात कर सकते हैं. हालाँकि अभी इस बात की पुष्टि नहीं हुई है कि इस बैठक में एन श्रीनिवासन शामिल होंगे या नहीं.

पद बचाने के लिए एन श्रीनिवासन के शरण में पहुंचे बीसीसीआई अधिकारी, पहले किया था श्रीनिवासन का विरोध 1

पद बचाने के लिए एन श्रीनिवासन के शरण में पहुंचे बीसीसीआई अधिकारी, पहले किया था श्रीनिवासन का विरोध 2

प्रदेश के एक वारिष्ट अधिकारी से इस बैठक के बारे में पूछने पर उसने बताया कि कल कॉफ़ी पर मिलने की योजना है, लेकिन उन्हें यह नहीं पता है कि इस बैठक में एन श्री निवासन हिस्सा लेंगे या नहीं. होने वाली इस अनौपचारिक मुलाकात में कुछ योजनायों पर बात होने की संभावनाएं है.

प्रशासकों की समित से क्यों खफा बीसीसीआई के अधिकारी ?

दरसल सीओए ने ये कहा है, कि बोर्ड के अध्यक्ष सीके खन्ना, कोषाध्यक्ष अनिरुद्ध चौधरी और सचिव अमिताभ चौधरी का कार्यकाल पूरा हो जाने के कारण उन्हें पद से हटा दिया जाना चाहिए.

विनोद राय के नेतृत्व वाली दो सदस्यीय प्रशासनिक समित और बीसीसीआई के उच्च अधिकारीयों के बीच जंग इसलिए और भी बढ़ गयी है, क्योंकि तीनों उच्च अधिकारीयों के प्रमुख अधिकार प्रशासनिक समित द्वारा छीन लिए गए हैं. जबकि पिछले सप्ताह सुप्रीम कोर्ट में एक रिपोर्ट सबमिट कर इनके बर्खास्तगी की मांग की है.

पद बचाने के लिए एन श्रीनिवासन के शरण में पहुंचे बीसीसीआई अधिकारी, पहले किया था श्रीनिवासन का विरोध 3

इसके अलावा उन्होंने अधिकारियों को सर्वसम्मति से निर्णय लेने से भी रोक दिया है. साथ ही लोढ़ा समित से जुड़े मामले में कानूनी खर्च के लिए बीसीसीआई के पैसे को इस्तेमाल करने से भी प्रतिबन्ध लगा दिया है. इसी को लेकर अधिकारी कह रहे हैं कि सुप्रीम कोर्ट ने जो अधिकार प्रशासनिक समित को सौंपे हैं वे उस दायरे से बाहर जाकर काम कर रहे हैं.

Related posts

Leave a Reply