भारतीय टीम के स्पिन गेंदबाज युजवेन्द्र चहल मैदान से दूर इनके साथ बिता रहे हैं समय

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

भारतीय टीम के स्टार स्पिन गेंदबाज युजवेन्द्र चहल मैदान से दूर परिवार के साथ नहीं बल्कि इनके साथ बिता रहे हैं समय 

भारतीय टीम के स्टार स्पिन गेंदबाज युजवेन्द्र चहल मैदान से दूर परिवार के साथ नहीं बल्कि इनके साथ बिता रहे हैं समय

भारतीय क्रिकेट टीम में स्टार स्पिन गेंदबाज युजवेन्द्र चहल का कद हर दिन के साथ बढ़ता जा रहा है। युजवेन्द्र चहल ने जिस दिन से भारतीय टीम में जगह बनायी है उसके बाद से लगातार शानदार प्रदर्शन कर सबको प्रभावित कर रहे हैं। पिछले काफी समय से क्रिकेट के मैदान में अपना जौहर दिखाने वाले युजवेन्द्र चहल को अब थोड़ा सा आराम मिला है।

भारतीय टीम के स्टार स्पिन गेंदबाज युजवेन्द्र चहल मैदान से दूर परिवार के साथ नहीं बल्कि इनके साथ बिता रहे हैं समय 1

युजवेन्द्र चहल जानवर बचाओं मुहिम के लिए निकले

श्रीलंका में खेली गई निदहास ट्रॉफी के खिताब को जीतने के बाद भारतीय टीम अपने वतन लौट आयी और सभी खिलाड़ियों को इस बीच कुछ आराम मिला है। ऐसे में जब युजवेन्द्र चहल को एच छोटा का विराम मिला तो वो देश में जानवरों को बचाओं मुहिम के लिए निकल पड़े।

भारतीय टीम के स्टार स्पिन गेंदबाज युजवेन्द्र चहल मैदान से दूर परिवार के साथ नहीं बल्कि इनके साथ बिता रहे हैं समय 2

आगरा के एनजीओ वाइल्ड लाइफ पहुंचे युजवेन्द्र चहल

युजवेन्द्र चहल ने इस मुहिम के तहत उत्तरप्रदेश के आगरा के लिए निकल गए। युजवेन्द्र चहल ने आगरा में एनजीओ वाइल्ड लाइफ आगरा में एसओएस नाम से हाथियों के लिए संरक्षण और भालुओं के बचाव के लिए केन्द्र चलाता है वहां पर पहुंचे।

भारतीय टीम के स्टार स्पिन गेंदबाज युजवेन्द्र चहल मैदान से दूर परिवार के साथ नहीं बल्कि इनके साथ बिता रहे हैं समय 3

हाथियों के बीच जाकर युजवेन्द्र चहल हुए भावुक

युजवेन्द्र चहल ने वहां जाकर कहा कि

इन जानवरों की मदद के लिए किए जा रहे प्रयासों से मैं भावुक हूं। मैं फिर यहां आउंगा। इस वाइल्ड लाइफ एसओएस बचाव केन्द्र का दौरा कर मैं बहुत खुश हूं। इन जानवरों को बचाने के लिए जो मेहनत की जा रही है वो भावुक कर देने वाली है। मैं यहां पर दोबारा जरूर आना चाहूंगा।”

कहानियों में सुनाए जाने वाले हाथी भी हैं बचाव केन्द्र में मौजूद

भारत के रिस्ट स्पिन गेंदबाज युजवेन्द्र चहल ने माया, फूलकली और लक्ष्मी की कहानियों को सुना है। ये हाथी उन 29 हाथियों के साथ इस बचाव केन्द्र में रखे गए हैं। चहल ने यहां पर हाथियों की देखभाल करने वाले लोगों से मुलाकात भी की।

भारतीय टीम के स्टार स्पिन गेंदबाज युजवेन्द्र चहल मैदान से दूर परिवार के साथ नहीं बल्कि इनके साथ बिता रहे हैं समय 4

हाथियों को सर्कस की प्रताड़ित दुनिया से बचाकर दी जा रही है नई जिंदगी

जहां तक मीडिया रिपोर्ट्स की बात है उनके अनुसार सर्कस की प्रताड़ित दुनिया से बचाए गए इन हाथियों को अब नई जिंदगी दी गई है। यहां पर मौजूद डॉक्टर इनका अच्छे से ख्याल रख रहे हैं। और साथ ही जरूरी इलाज को मुहैया कराया जा रहा है।

भारतीय टीम के स्टार स्पिन गेंदबाज युजवेन्द्र चहल मैदान से दूर परिवार के साथ नहीं बल्कि इनके साथ बिता रहे हैं समय 5

 

अगर आपको हमारा ये आर्टिकल पसंद आए तो प्लीज इसे लाइक और शेयर करें।

Related posts

Leave a Reply