AUSvsIND : 2-1 से सीरीज जीतने के बाद कप्तान अजिंक्य रहाणे ने इस खिलाड़ी को दिया जीत का पूरा श्रेय 1

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेली गई बॉर्डर-गावस्कर सीरीज को भारतीय क्रिकेट टीम ने 2-1 से जीतकर अपने नाम कर लिया है। इस सीरीज में भारत के सामने कई मुश्किलें आईं, अनुभवी खिलाड़ी चोटिल हुए, 5 युवा खिलाड़ियों ने डेब्यू किया, मगर आखिर में सीरीज को जीतकर भारत ने साबित कर दिया की हारी बाजी को जीतना उन्हें आता है।

जीत को शब्दों में बयां नहीं कर पा रहे अजिंक्य रहाणे

AUSvsIND : 2-1 से सीरीज जीतने के बाद कप्तान अजिंक्य रहाणे ने इस खिलाड़ी को दिया जीत का पूरा श्रेय 2

बॉर्डर-गावस्कर सीरीज में एडिलेट टेस्ट में मिली शर्मनाक हार के बाद जिस तरह से भारतीय क्रिकेट टीम ने इस सीरीज में वापसी की और सीरीज को 2-1 से अपने नाम किया है। उसके लिए भारत की जितनी तारीफ की जाए, कम होगी। कप्तान अजिंक्य रहाणे ने मैच खत्म होने के बाद कहा,

“यह हमारे लिए बहुत मायने रखता है। मुझे नहीं पता कि इस खुशी को कैसे बयां करूं, लेकिन हमारे खिलाड़ियों ने एडिलेड टेस्ट के बाद पॉजिटिव कैरेक्टर दिखाते हुए सीरीज में वापसी का दृढ़ संकल्प दिखाए। मुझे वास्तव में प्रत्येक व्यक्ति पर गर्व है। पुजारा और मेरे बीच बातचीत यह थी कि वह सामान्य बल्लेबाजी करेंगे, और मैं इसे ले लूंगा। हालांकि ये हमारी सोच थी। पुजारा को श्रेय जाता है, जिस तरह से उन्होंने दबाव को संभाला वह शानदार था। ऋषभ और वॉशिंगटन अंत में बहुत अच्छे थे।”

कप्तान ने गेंदबाजों को भी सराहा

भारत के लिए गाबा टेस्ट मैच आसान नहीं था, क्योंकि टीम के मुख्य सभी गेंदबाज चोटिल थे। टीम की गेंदबाजी इकाई में थे सिर्फ 2 टेस्ट मैच खेलने वाले मोहम्मद सिराज, डेब्यू मैच खेल रहे वॉशिगंटन सुंदर-टी नटराजन, शार्दुल ठाकुर, नवदीप सैनी। इन सभी युवा गेंदबाजों ने ऑस्ट्रेलिया के 20 विकेट झटककर अपनी काबिलियत को साबित कर दिया है। कप्तान अजिंक्य रहाणे ने गेंदबाजों की भी जमकर तारीफ की। उन्होंने कहा,

“20 विकेट लेना इस मैच का जरुरी पहलू था, इसलिए हमने 5 गेंदबाजों को चुना। जब जडेजा चोटिल हो गए, तो  सुंदर ने जडेजा टीम में रिप्लेस किया। पांच गेंदबाजों को खेलाने का इरादा साफ था। सिराज ने दो टेस्ट खेले, सैनी सिर्फ एक, इसलिए यह अनुभवहीन था लेकिन गेंदबाजों और अन्य सभी ने जो कैरेक्टर दिखाया वह अविश्वसनीय था। हमने एडिलेड के बारे में कुछ भी चर्चा नहीं की। बस खेला गया परिणाम के बारे में चिंता किए बिना। हम अच्छे रवैये और कैरेक्टर के साथ मैच खेलना चाहते थे।”

भारत ने बनाए रखी ट्रॉफी

बॉर्डर-गावस्कर

भारतीय क्रिकेट टीम ने पहली बार ऑस्ट्रेलिया को उसी के घर में बॉर्डर-गावस्कर सीरीज 2018-19 में मात देकर ट्रॉफी अपने नाम की थी। तब कप्तान विराट कोहली थे और आज एक बार फिर टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया को उसी के घर पर इस सीरीज में 2-1 से हराकर ट्रॉफी को बरकरार रखा है और अब कप्तान अजिंक्य रहाणे थे, क्योंकि विराट कोहली पहले टेस्ट मैच के बाद पैतृक अवकाश के लिए भारत लौट गए थे।