क्या कल 2014 वाला प्रदर्शन दोहरा पाएंगे अजिंक्य रहाणे ? इसी परिस्थिति में बनाया था शतक

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

क्या कल 2014 वाला प्रदर्शन दोहरा पाएंगे अजिंक्य रहाणे? इसी परिस्थिति में बनाया था शतक 

क्या कल 2014 वाला प्रदर्शन दोहरा पाएंगे अजिंक्य रहाणे? इसी परिस्थिति में बनाया था शतक

वेलिंग्टन टेस्ट में भारतीय टीम मुश्किल में नजर आ रही है. दिन का खेल खत्म होने तक भारत का स्कोर 5 विकेट पर 122 रन है. दिन का खेल खत्म होने तक उपकप्तान अजिंक्य रहाणे 38 और ऋषभ पंत 10 रन बनाकर क्रीज पर मौजूद हैं. हालाँकि चायकाल का खेल बारिश के कारण नहीं हो पाया.

भारतीय टीम की स्थिति इस समय बहुत गंभीर है. लेकिन जब तक उपकप्तान अजिंक्य रहाणे क्रीज पर मौजूद हैं भारतीय टीम के फैन्स निराश नहीं होंगे क्योंकि अजिंक्य रहाणे इस स्थिति से पहले भी टीम को निजाद दिला चुके हैं.

क्या कल 2014 वाला प्रदर्शन दोहरा पाएंगे अजिंक्य रहाणे ?

क्या कल 2014 वाला प्रदर्शन दोहरा पाएंगे अजिंक्य रहाणे? इसी परिस्थिति में बनाया था शतक 1

दरअसल न्यूजीलैंड के 2014 दौरे पर वेलिंगटन टेस्ट में टीम इंडिया की स्थिति कुछ ऐसी थी. सीरीज के दुसरे टेस्ट मैच में भारतीय टीम का मध्यक्रम पूरी तरह से फेल हो चुका था. चेतेश्वर पुजारा, मुरली विजय, रोहित शर्मा तथा विराट कोहली जैसे बल्लेबाज सस्ते में आउट होकर पवेलियन लौट गए थे.

ऐसे में सारी जिम्मेदारी नंबर 7 पर बल्लेबाजी करने वाले अजिंक्य रहाणे पर आ गयी. और उन्होंने टीम को निराश भी नहीं किया. उस मैच में भारत के लिए अजिंक्य रहाणे ने शिखर धवन के साथ मिलकर शानदार शतक लगाया था.

अजिंक्य रहाणे ने खेली थी 118 रनों की शानदार पारी

क्या कल 2014 वाला प्रदर्शन दोहरा पाएंगे अजिंक्य रहाणे? इसी परिस्थिति में बनाया था शतक 2

हालाँकि शिखर धवन के मात्र 2 रनों से शतक से चूकने के बाद भारतीय खेल प्रेमी कुछ निराश से हो गए थे, लेकिन रहाणे ने धैर्य के साथ खेलते हुए करियर की पहली सेंचुरी पूरी की थी. 25 साल के रहाणे ने इस मैच में धैर्यपूर्वक खेलते हुए 158 गेंदों का सामना किया था.

उन्होंने अपनी 118 रन की पारी में 17 चौके व 1 छक्का भी जड़ा था. इसके बाद दूसरी पारी में विराट कोहली ने भी शतकीय पारी खेली थी. हालाँकि मैच का नतीज किसी के पक्ष में नहीं गया और दोनों टीमों को ड्रा से संतुष्ट होना पड़ा था.

रहाणे ने उस मैच में की थी कपिल देव की बराबरी

क्या कल 2014 वाला प्रदर्शन दोहरा पाएंगे अजिंक्य रहाणे? इसी परिस्थिति में बनाया था शतक 3

7वें क्रम पर विदेशी पिच पर खेलते हुए सेंचुरी लगाना आसान काम नहीं होता, लेकिन रहाणे अपनी तकनीक से इस काम को आसानी से पूरा कर लिया. इस सेंचुरी के साथ ही वे विदेशी मैदान पर 7वें क्रम पर खेलते हुए शतक लगाने वाले महज 25 से कम उम्र के चौथे इंडियन भी बन गए थे.
उनसे पहले 1983 में 7वें नम्बर पर बल्लेबाजी करते हुए कपिल देव ने वेस्ट इंडीज में नाबाद 100 रन बनाए थे. इसी कारण जब तक अजिंक्य रहाणे क्रीज पर मौजूद है तब तक भारतीय टीम तथा फैन्स ज्यादा निराश नहीं होंगे.

Related posts