/

चेन्नई टेस्ट : रविन्द्र जडेजा के ऑल राउंड प्रदर्शन से टीम इंडिया ने दर्ज की ऐतिहासिक जीत

टीम इंडिया और इंग्लैंड के बीच पांच टेस्ट मैचो की सीरीज का अंत चेन्नई के चैपोक मैदान पर हुआ. इस मैच में इंग्लैंड टीम की वही पुरानी कहानी दोहराई गई, टॉस जीतकर पहले बल्लेबाज़ी करते हुए, मेहमान टीम ने 477 का विशाल स्कोर खड़ा किया.

जेसीसी
बनना चाहते हैं प्रोफेशनल क्रिकेटर?
अभी करें रजिस्टर

*T&C Apply

मैच के आखिरी दिन इंग्लैंड के सामने चुनौती थी, कि वो 90 ओवर तक टिक सके लेकिन ऐसा करने में मेहमान टीम नाकामयाब रही और लगातार दूसरी बार एक पारी से हार झेलकर वापस जाने को मजबूर हुई.

यह भी पढ़े : विडियो : देखें क्रिकेट के इतिहास में पहली बार इस कारण रोकना पड़ा खेल

टीम इंडिया की ओर से बल्ले से दो नाम ऐसे रहे जिन्होंने मिलकर ही इंग्लैंड के स्कोर से ज्यादा रन भारत के लिए बना लिए. हम बात कर रहे है, कर्नाटका के लोकेश राहुल और करुण नायर की. लोकेश राहुल सलामी बल्लेबाज़ी करने उतरे और इस सीरीज में लगातार चोट से परेशान लेने के बाद लोकेश राहुल ने साल का अंत धमाकेदार अंदाज़ में किया.

राहुल ने शानादर बल्लेबाज़ी करते हुए अपने करियर का सर्वश्रेष्ठ स्कोर (199) बनाया और वो अपने पहले दोहरे शतक से महज़ एक रन से चूक गए. लेकिन उन्ही के शहर के युवा बल्लेबाज़ और अपना तीसरा मैच खेल रहे, करुण नायर ने बेहतरीन पारी खेली और अपने करियर के पहले अंतर्राष्ट्रीय शतक को तिहरे शतक में बदला. नायर, वीरेंदर सहवाग के बाद दूसरे ऐसे भारतीय बल्लेबाज़ बने जिन्होंने दोहरा शतक लगाया.

यह भी देखें : विडियो : करूण नायर के तिहरे शतक पर कुछ ऐसा रहा करुण नायर और विराट कोहली का जश्न मनाने का तरीका

लेकिन इस मैच में अगर भारतीय टीम की जीत कि नीव किसी ने रखी तो वो थे, सौराष्ट्र के रविन्द्र जडेजा. बल्ला हो या गेंद या फिर फील्डिंग सब जगह जडेजा इस मैच में पूरी तरह से छाए रहे. पहली पारी में जडेजा ने तीन अहम विकेट चटकाए और उसके बाद बल्लेबाज़ी करने आए तो अपने आक्रामक अंदाज़ में टीम इंडिया के लिए अहम योगदान दिया और अर्धशतक लगाया.

जडेजा ने इंग्लैंड की दूसरी पारी में टेस्ट श्रृंखला के आखिरी दिन सात विकेट हासिल किए और अपनी गेंदबाज़ी से दिलाई टीम इंडिया को एक ऐतिहासिक जीत. इस जीत के साथ ही कप्तान विराट कोहली इंग्लैंड के खिलाफ भारत के सबसे सफल कप्तान बन गए है. रविन्द्र जडेजा ने मैच में दस विकेट हासिल किए.

यह भी देखें : विडियो : मुरली विजय ने पकड़ा मोईन का कठिन कैच जिसके बाद कोहली ने किया कुछ ऐसा जिसने सभी कों किया हैरान

कोहली से पहले कोई भी भारतीय कप्तान इंग्लैंड के खिलाफ तीन से अधिक मैच नहीं जीत सका था.

यहाँ देखें कैसे ऐतिहासिक जीत का जश्न मनाया टीम इंडिया ने :

संक्षिप्त स्कोरकार्ड :

इंग्लैंड : 477 (मोईन अली 146, जडेजा 106/3)

भारत : 759 (करुण नायर 303* स्टुअर्ट ब्रॉड 80/2)

इंग्लैंड दूसरी पारी : 207 ( किटोन जेंनिंग्स 54, रविन्द्र जडेजा 48/7)