चेतेश्वर पुजारा कप्तान विराट कोहली के इस गुण अपनाना चाहते हैं

Trending News

Blog Post

इंटरव्यूज

चेतेश्वर पुजारा कप्तान विराट कोहली के इस गुण को अपनाना चाहते हैं 

चेतेश्वर पुजारा कप्तान विराट कोहली के इस गुण को अपनाना चाहते हैं

भारतीय टीम के अनुभवी बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा करीब 8 महीने के बाद इंटरनेशनल क्रिकेट खेलने के लिए तैयार हैं। उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सिडनी में अपना अंतिम मैच खेला था। इस मैच में उनके बल्ले से 193 रनों की पारी निकली थी। वह भारतीय वनडे और टी-20 टीम का हिस्सा नहीं हैं और इसी वजह से मैदान से दूर थे।

फिर शतक बनाया

भारत को 22 अगस्त से वेस्टइंडीज के खिलाफ 2 मैचों की टेस्ट सीरीज खेलनी है। इससे पहले हुए अभ्यास मैच में पुजारा के बल्ले से शानदार शतक निकला। 100 रनों की पारी खेलने के बाद दूसरे बल्लेबाजों को मौका देने के लिए वह रिटायर हर्ट हो गए।

इस पारी से उन्होंने अपना फॉर्म का दिखा दिया है। वेस्टइंडीज और भारत के बीच 2 मैचों की टेस्ट सीरीज की शुरुआत 22 अगस्त से हो रही है। यह दोनों टीमों के लिए आईसीसी टेस्ट चैंपियनशिप की शुरुआत भी है।

खेल पर दिया बयान

 

वेस्टइंडीज के खिलाफ सीरीज शुरू होने से पहले चेतेश्वर पुजारा ने अपने फॉर्म और प्रदर्शन को लेकर बात की है। इसमें उन्होंने कहा कि वह निरंतर प्रदर्शन करना चाहते हैं। हिंदुस्तान टाइम्स से बात करते हुए उन्होंने कहा

“एक शीर्ष क्रम के बल्लेबाज के रूप में आप हमेशा दबाव में रहते हैं क्योंकि आपको हमेशा जिम्मेदारी के साथ खेलना होता है। विराट पिछले कुछ वर्षों में काफी अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं। मैंने भी ऐसा किया है और मुझे यकीन है कि भविष्य में भी भूमिका समान होगी।”

टेस्ट चैंपियनशिप का फायदा बताया

इस पूर्व खिलाड़ी जहाँ टेस्ट चैंपियनशिप के पक्ष में नहीं हैं वहीं चेतेश्वर पुजारा इसे काफी अच्छा मान रहे हैं। उनके अनुसार चैंपियनशिप की वजह से टीमें अब सभी मैच जीतना चाहेंगी। उन्होंने आगे कहा

“मुझे लगता है कि यह टेस्ट क्रिकेट के लिए काफी महत्वपूर्ण था। इससे आप अब एक या दो मैच जीतकर सीरीज को अपने नाम नहीं करना चाहेंगे बल्कि सभी मैच जीतना चाहेंगे। अभी मैचों के अंक हैं और यह खेल के लिए काफी अच्छा है।”

Related posts