कुलदीप यादव के शानदार प्रदर्शन के बाद उनके कोच ने कहा, कि.... 1

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेली जा रही बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी के धर्मशाला में खेले जा रहे सीरीज के चौथे और अंतिम टेस्ट मैच में कानपुर के कुलदीप यादव को भारत के कप्तान विराट कोहली के कंधे की चोट से इस मैच में नही उतरने पर भारतीय टीम में शामिल कर अपने टेस्ट करियर का आगाज करने का मौका दिया। कुलदीप इस मैच में उतरकर जबरदस्त धमाल मचाया। चाईनामैन कुलदीप ने अपने पहले ही मैच में कंगारू बल्लेबाजों पर अपनी फिरकी मे उलझा कर रख दिए। कुलदीप यादव ने शानदार गेंदबाजी करते हुए 68 रन देकर 4 विकेट हासिल किए।

अपने पहले ही मैच में धमाकेदार प्रदर्शन करने वाले चाईनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव की गेंदबाजी की जमकर तारीफ हो रही है। ऐसे में कुलदीप के कोच कपिल पांडे भी अपने शिष्य की कामयाबी देखकर बहुत खुश नजर आ रहे है। चाईनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव के गुरू कपिल पांडे ने कहा कि मैं कुलदीप की गेंदबाजी देखकर अभिभूत हूं। पदार्पण टेस्ट में कुलदीप ने शानदार गेंदबाजी कर खुद को साबित कर दिया है।   पहले टेस्ट मैच में ड्रीम डेब्यू करने के बाद कुलदीप यादव ने इन्हें दिया अपने शानदार प्रदर्शन का श्रेय

साथ ही कुलदीप की शानदार गेंदबाजी को लेकर उनके कोच कपिल ने कहा कि, “वेस्टइंडीज और बाद में बांग्लादेश के खिलाफ टेस्ट टीम में चुने जाने के बावजूद उसे अंतिम एकादश में खेलने का मौका नहीं मिला। इसके बाद ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मौजूदा सीरीज में उसे टीम में शामिल किया गया और उन्हे पहले तीन टेस्ट मैच में अपना हुनर दिखाने का मौका नहीं मिला।”धर्मशाला टेस्ट मैच के शुरू होने से पहले ही कुलदीप यादव को लेकर भविष्यवाणी कर दी थी, इस भारतीय दिग्गज ने

“आखिरकार अंतिम टेस्ट मैच में उसे मैदान में अपने जौहर दिखाने का मौका मिला जिस पर वह पूरी तरह खरा उतरा। अच्छा होता कि वह अपने पहले टेस्ट की पहली पारी में पांच विकेट पूरे करता लेकिन अभी दूसरी पारी बाकी है और मुझे भरोसा है, कि वह यह कारनामा कर दिखाएगा। बल्लेबाजी के लिए मुफीद मानी जाने वाली पिच पर कुलदीप का प्रदर्शन देख कर मैं काफी संतोष महसूस कर रहा हूं।”