Ravichandran Ashwin
Ravichandran Ashwin

भारतीय क्रिकेट टीम को आईसीसी टी20 विश्व कप में 2021 में सबसे बड़ा दावेदार माना जा रहा था, लेकिन वहां पर टीम का काफी निराशाजनक प्रदर्शन रहा। टी20 विश्व कप की निराशा को पीछे छोड़ते हुए भारत ने तुरंत बाद ही अपने घर में न्यूजीलैंड का 3 मैचों की टी20 सीरीज में पूरी तरह से सफाया कर दिया।

भारत ने न्यूजीलैंड को दी सीरीज में 3-0 से मात

भारत ने यहां पर अपने कुछ प्रमुख खिलाड़ियों के बिना भी जबरदस्त प्रदर्शन किया। नए कप्तान रोहित शर्मा की अगुवायी में टीम इंडिया ने कोलकाता में खेले गए तीसरे और अंतिम टी20 मैच को 73 रनों के बड़े अंतर से अपने नाम कर सीरीज को 3-0 से जीत लिया।

INDvsNZ- भारतीय टीम की शानदार जीत के बाद भी कोच राहुल द्रविड़ ने इस वजह से कहा, "जमीन पर ही रखे पांव" 1

न्यूजीलैंड की मेजबानी कर रही भारतीय टीम यहां नए कप्तान और कोच रोहित शर्मा और राहुल द्रविड़ की जोड़ी में काफी बेहतरीन नजर आयी। कोहली, शमी, बुमराह और जडेजा जैसे खिलाड़ियों के ना होने के बाद भी टीम ने लगातार तीनों मैच शानदार अंदाज में अपने नाम किए।

राहुल द्रविड़ हुए टीम के प्रदर्शन से खुश, लेकिन दी ये सलाह

इस टी20 सीरीज को अपने नाम करने के बाद टीम के नए मुख्य कोच राहुल द्रविड़ काफी ज्यादा खुश हैं। टीम के प्रदर्शन पर राहुल द्रविड़ खुश तो हैं, लेकिन साथ ही उन्होंने टीम के खिलाड़ियों को इस जीत से अति उत्साहित ना होने की सलाह भी दे डाली है।

INDvsNZ- भारतीय टीम की शानदार जीत के बाद भी कोच राहुल द्रविड़ ने इस वजह से कहा, "जमीन पर ही रखे पांव" 2

भारतीय टीम के नए मुख्य कोच राहुल द्रविड़ ने मैच के बाद कहा कि “ये वास्तव में बहुत अच्छी सीरीज रही। हर किसी ने सीरीज के शुरू से अच्छा योगदान दिया। शानदार शुरुआत करके अच्छा लग रहा है लेकिन हम यथार्थवादी हैं और हमें अपने पांव जमीन पर रखने की जरूरत है। न्यूजीलैंड के लिये विश्व कप फाइनल के बाद छह दिन के अंदर तीन मैच खेलना आसान नहीं था। हमें अपने पांव जमीन पर रखकर नयी सीख लेकर आगे बढ़ना होगा।”

द्रविड़ ने युवा खिलाड़ियों की जमकर की तारीफ

राहुल द्रविड़ ने आगे इन युवा खिलाड़ियों की तारीफ करते हुए कहा कि

INDvsNZ- भारतीय टीम की शानदार जीत के बाद भी कोच राहुल द्रविड़ ने इस वजह से कहा, "जमीन पर ही रखे पांव" 3

“ये देखकर वास्तव में अच्छा लगा कि कुछ युवा खिलाड़ियों ने अच्छा प्रदर्शन किया। हमने उन खिलाड़ियों को मौका दिया जिन्होंने पिछले कुछ महीनों में अधिक क्रिकेट नहीं खेली थी। ये देखकर वास्तव में अच्छा लगा कि हमारे पास अच्छे विकल्प हैं।”