बीसीसीआई को मिले 7 नये निर्देश, देखे किसे हो सकता है इन नियमो से नुकसान | Sportzwiki Hindi

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

बीसीसीआई को मिले 7 नये निर्देश, देखे किसे हो सकता है इन नियमो से नुकसान 

बीसीसीआई को मिले 7 नये निर्देश, देखे किसे हो सकता है इन नियमो से नुकसान

इस साल की शुरुआत में सुप्रीम कोर्ट के ऑर्डर से अनुराग ठाकुर को बीसीसीआई के अध्यक्ष पद और अजय शिर्के को बीसीसीआई के सचिव पद से हटा दिया गया था. उसके बाद से बीसीसीआई के लिए नए कार्यवाहक अधिकारियों का चयन किया, जो पूरे अधिकार के साथ नहीं है. बीसीसीआई में लोढ़ा समिति की सिफ़ारिशो को लागू करवाने के लिए आज सुनवाई करेगी सुप्रीम कोर्ट

बीसीसीआई को मिले 7 नये निर्देश, देखे किसे हो सकता है इन नियमो से नुकसान 1

इन अधिकारियों में सीके खन्ना, अमिताभ चौधरी और अनिरुद्ध चौधरी शामिल है, लेकिन इन सभी अधिकारियों को बीसीसीआई के किसी भी फैसले के लिए पूरी तरह से निर्णय लेने का अधिकार नहीं मिला है, बल्कि अभी अभी व्यवस्थापकों की समिति ने इन सभी अधिकारियों के लिए 7 निर्देश दिए है, जिन पर इन अधिकारियों को खास तौर पर ध्यान देकर काम करना है.

आइयें यहाँ देखते है वो 7 निर्देश:-

1 – कार्यवाहक अधिकारी जो भी नया फैसला लेंगे, उन्हें उसके लिए पहले व्यवस्थापकों की समिति से उस बारे में बातचीत करनी होगी. अगर व्यवस्थापकों की समिति उस फैसले को सही नहीं मानती, तो साफ़ साफ़ मन कर सकती है.

2 – बीसीसीआई के सीईओ और सीएफओ दोनों को हर मामले में सब जानकारी इस अधिकारियों को नहीं, बल्कि व्यवस्थापकों की समिति को देनी होंगी. राहुल द्रविड़ को ये अहम ज़िम्मेदारी निभाते हुए देखना चाहती है बीसीसीआई

3 – बीसीसीआई के सीईओ अपने पुराने चल रहे एप्लीकेशन पर खुलकर काम कर सकते है, उन पुराने एप्लीकेशन यह अधिकारी कोई भी दखलंदाजी नहीं कर सकते.

4 – व्यवस्थापकों की समिति कार्यवाहक अधिकारियों को कभी भी सीईओ की मदद से कोई भी फैसला दे सकती है, जिसके बारे में इन अधिकारियो को सोचना होगा. बीसीसीआई के कॉन्ट्रैक्ट से बाहर किये जाने के बाद, रैना के लिए आई एक और बुरी खबर

5 – अगर बीसीसीआई से किसी के लिए भी फण्ड जाता है, तो उसकी पूरी जानकारी सचिव और सीईओ के पास होगी. उस दिए गए फण्ड की पूरी जानकारी 3 दिन के अंदर व्यवस्थापकों की समिति तक पहुँचाना होगा.

6 – कार्यवाहक अधिकारी बीसीसीआई की तरफ़ से ऐसा कोई बयान नहीं दे सकते, जो किसी थर्ड पार्टी के खिलाफ़ हो, जैसे की गवर्नमेंट, कोर्ट, मीडिया. सुरेश रैना को बीसीसीआई कॉन्ट्रैक्ट से हटाए जाने पर रैना पर ही भड़के उनके पूर्व कोच

7 – कार्यवाहक अधिकारी बीसीसीआई की जानकारी गोपनीय रखनी होगी, वह किसी भी जानकारी के बारे में किसी को नहीं बता सकते.

Related posts