शाकिब अल हसन की तरह ये 5 क्रिकेटर भी दिखा चुके मैदान में अपना गुस्सा, खेल भावना को किया तार-तार 1

बांग्लादेश में खेली जा रही ढाका प्रीमियर लीग में स्टार ऑलराउंडर शाकिब अल हसन का एक हैरान करने वाले वीडियो सामने आया है. क्रिकेट मैच के दौरान एलबीडब्ल्यू की अपील पर अंपायर के नॉटआउट करार दिए जाने पर शाकिब बदतमीजी पर उतर आए और अंपायर से भिड़ पड़े. इसके बाद बांग्लादेश के ऑलराउंडर ने अपना गुस्सा जाहिर करते हुए स्टंप पर भी लात मारी. क्रिकेट के मैदान में पहले भी ऐसी घचनाएं होती रही हैं जब खिलाड़ियों ने अपना आपा खो दिया. आज हम क्रिकेट के मैदान पर हुई पांच ऐसी ही घटनाओं के बारे में बताने जा रहे हैं जब खिलाड़ियों ने आपा खो दिया.

1 -धोनी को तीसरे अंपायर के फैसले पर बिली बाउडन के साथ उलझते हुए देखा गया

क्रिकेट

क्रिकेट में महेंद्र सिंह धोनी को कैप्टन कूल के नाम से पहचाना जाता है और इसकी सबसे बड़ी वजह उनका खेल के दौरान किसी भी परिस्थिति में बेहद शांत रहना है। लेकिन साल 2012 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीबी सीरीज के एक मैच के दौरान धोनी ने माइक हसी की स्टम्पिंग को लेकर अपील की। जिसके रिप्ले में दिखा कि हसी क्रीज के अंदर हैं, लेकिन तीसरे अंपायर ने उन्हें आउट करार दे दिया।

लेकिन इस गलती को समझते हुए मैदानी अंपायर बिली बाउडन ने फैसले के बाद पवेलियन की तरफ जा रहे हसी को रोककर वापस खेलने के लिए बुलाया। जिसपर धोनी इस पूरी घटना को लेकर बेहद नाखुश दिखे और वह मैदान पर ही बाउडन के साथ गुस्से में बहस करने लगे थे।

2-जब एक फैन ने अभ्यास के दौरान रोहित शर्मा को दिलाया गुस्सा

क्रिकेट

रोहित शर्मा को भी एक बेहद शांत क्रिकेट खिलाड़ी के तौर पर समझा जाता है। लेकिन साल 2011-12 के ऑस्ट्रेलिया दौरे पर रोहित शर्मा बाकी भारतीय खिलाड़ियों के साथ अभ्यास सत्र में व्यस्त थे, लेकिन उसी समय एक फैन ने कुछ आपत्तिजनक शब्दों का प्रयोग किया. जिसके चलते रोहित शर्मा और प्रवीण कुमार को बेहद गुस्से में देखा गया.

प्रमीण कुमार ने इस दौरान फैन्स को स्टंप दिखाकर मारने की भी धमकी दी थी. रोहित शर्मा का इस तरह से आपा खोना आज भी फैन्स को याद है. रोहित शर्मा भी कभी-कभी मैदान में अभद्र भाषा का प्रयोग करते नजर आते हैं.

3-जब डिकॉक से हाथापाई करने पर उतरे वॉर्नर

क्रिकेट

साल 2018 में दक्षिण अफ्रीका दौरे पर पहुंची ऑस्ट्रेलियाई टीम के सलामी बल्लेबाज डेविड वॉर्नर और दक्षिण अफ्रीका के विकेटकीपर बल्लेबाज क्विटन डिकॉक के बीच झगड़ा देखने को मिला था. क्रिकेट से जुड़ा ये झगड़ा तब हुआ जब टेस्ट मैच के दौरान दिन का खेल खत्म होने के बाद जब दोनों टीमें ड्रेसिंग रूम की तरफ झा रही थीं तभी वॉर्डर ने डिकॉक को मारने की कोशिश की थी.

हालांकि कि दोनों टीम के खिलाड़ियों ने बीच-बचाव कर दिया था.इस घटना के बाद डेविड वॉर्नर का तब और भी ज्यादा मजाक उड़ा था जब वो बॉल टैंपरिंग मामले में दोषी पाए गए थे. एक साल के लिए उन्हें क्रिकेट से निलंबित कर दिया गया था.

4-जावेद मियांदाद और डेनिस लिली

क्रिकेट

70 के दशक में पाकिस्तान टीम ऑस्ट्रेलिया दौरे पर गई थी तभी टेस्ट मैच के दौरान ऑस्ट्रेलिया के धाकड़ तेज गेंदबाज डेनिस लिली और पाकिस्तान के बल्लेबाज जावेद मियांदाद के बीच जबदस्त झगड़ा देखने को मिला था.

मियांदाद को डेनिस लिली ने लात मारी जबाव में पाकिस्तानी क्रिकेट खिलाड़ी ने बैट से मारने की कोशिश की. अंपायरों के बीच-बचाव के बाद ये झगड़ा शांत हुआ .क्रिकेट के मैदान में हुई लड़ाईयों में इस घटना को आज भी लोग याद करते हैं.

5-अंपायर रॉस इमरसन से भिड़े अर्जुन रणतुंगा

क्रिकेट

साल 1999 में श्रीलंकाई .क्रिकेट टीम ऑस्ट्रेलिया के दौरे पर थी, वो टेस्ट सीरीज के बाद त्रिकोणीय सीरीज में हिस्सा ले रही थी जिसमें इंग्लैंड की टीम भी शामिल थी. एडिलेड ओवल के मैदान पर इंग्लैंड की टीम बल्लेबाजी कर रही थी और 15 ओवर खत्म होने के बाद श्रीलंका के कप्तान अर्जुन रणतुंगा ने मुरलीधरन को गेंदबाजी पर लगा दिया.

मुरलीधरन ने बेहतरीन गेंदबाजी की, लेकिन 18वें ओवर में जब मुरली दोबारा गेंदबाजी करने आए तो उनकी पांचवीं गेंद नो बॉल करार दे दी गई. अंपायर रॉस इमरसेन (Ross Emerson) ने कहा कि वो अवैध एक्शन से गेंदबाजी कर रहे हैं. अंपायर के इस फैसले से रणतुंगा बिफर गए. उन्होंने अपनी पूरी क्रिकेट टीम को पिच के पास बुला लिया और अंपायरों के सामने अपना पक्ष रखने लगे. रणतुंगा ने बताया कि मुरलीधरन का एक्शन एकदम सही है और उन्हें आईसीसी से क्लीन चिट मिली हुई है.