WI vs IND: 'मैं वाकई में बेहद खुश हूं...', आवेश खान ने 'प्लेयर ऑफ द मैच' बनने के बाद जताई खुशी 1

वेस्टइंडीज और भारत (WI vs IND) के बीच खेले गए चौथे टी-20 मुकाबले में टीम इंडिया ने 59 रन से जीत दर्ज करते हुए सीरीज पर 3-1 से कब्जा कर लिया है। जहां इस मुकाबले में पहले बल्लेबाजी करने उतरी भारतीय टीम ने 20 ओवर में 5 विकेट के नुकसान पर 191 रन बनाए। इसके जवाब में वेस्टइंडीज टीम 132 रनों पर ही ऑल आउट हो गई। बता दें चौथे टी-20 मैच में टीम इंडिया की गेंदबाजी कमाल की रही, जहां आवेश खान (Avesh Khan) को मैच के बाद उनके शानदार प्रदर्शन का ईनाम भी मिला। उन्हें प्लेयर ऑफ द मैच से नवाजा गया।

आवेश खान को मिला ‘प्लेयर ऑफ द मैच’ अवार्ड

Avesh Khan को मिला 'प्लेयर ऑफ द मैच' अवार्ड
Avesh Khan को मिला ‘प्लेयर ऑफ द मैच’ अवार्ड

दरअसल वेस्टइंडीज और भारत के बीच खेले गए चौथे टी-20 मैच में टीम इंडिया को 59 रनों से जीत मिली। वहीं इस मैच में भारतीय गेंदबाजों का बोलबाला रहा, बता दें टीम को मिली शानदार जीत के पीछे युवा तेज गेंदबाज आवेश खान (Avesh Khan) का भी अहम योगदान रहा। उन्होंने किफायती गेंदबाजी करते हुए विंडीज टीम के बल्लेबाजों के होश उड़ा दिए। वहीं उनका प्रदर्शन देख कोच द्रविड़ और कप्तान रोहित शर्मा काफी प्रभावित हुए। वहीं इस मैच में उन्हें घातक प्रदर्शन का ईनाम भी मिला। बता दें आवेश खान को मैच के बाद प्लेयर ऑफ द मैच से नवाजा भी गया।

आवेश खान ने ‘मैन ऑफ द मैच’ बनने के बाद क्या कहा?

Avesh Khan को मिला 'प्लेयर ऑफ द मैच' अवार्ड
Avesh Khan को मिला ‘प्लेयर ऑफ द मैच’ अवार्ड

वहीं मैच के बाद हुई प्रेजेटेंशन के दौरान आवेश खान (Avesh Khan) को प्लेयर ऑफ द मैच से नवाजा गया, तो इस दौरान आवेश काफी खुश नजर आए। इसके साथ ही उन्होंने प्रतिक्रिया देते हुए कहा,

मैं काफी अच्छा महसूस कर रहा हूं, जहां पिछले दोनों मैचों में मैं कुछ कमाल नहीं कर पाया था, तो वहीं मैंने आज सिर्फ अपनी खूबियों पर ध्यान दिया, हार्ड लेंथ पर गेंदबाजी की. मेरे कोच और मेरे कप्तान ने मुझसे कहा कि वे मेरा समर्थन कर रहे हैं. उन्होंने मुझे अपने अच्छे प्रदर्शन के साथ वापसी की बात कही मेरा बहुत समर्थन किया.”

इसके साथ ही आवेश खान ने अगले मैच को लेकर कहा कि वो आखिरी मैच में अपना बेस्ट देंगे। उन्होंने कहा,

 “मैं अगले मैच पर ध्यान दे रहा हूं जो अभी बचा है। गेंद विकेट में थोड़ी रुक रही थी और इसलिए मैं अपनी धीमी गेंदों को हार्ड लेंथ के साथ मिला रहा था, जिससे मुझे परिणाम मिले। यह मैदान भारत जैसा ही लगता है, घर जैसा लगता है। खुशी है कि भीड़ हमें देखने आई।”