पांच क्रिकेटर जिन्होंने 2018 में संन्यास ले क्रिकेट फैन्स को आंसुओं में किया लीन

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

पिछले 10 महीने में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संयास ले चुके हैं ये 5 दिग्गज खिलाड़ी, अब नहीं आयेंगे 2019 विश्वकप में नजर 

पिछले 10 महीने में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संयास ले चुके हैं ये 5 दिग्गज खिलाड़ी, अब नहीं आयेंगे 2019 विश्वकप में नजर

वेस्ट इंडीज़ के दिग्गज और वर्ल्ड क्लास ऑल-राउंडर, ड्वेन ब्रावो ने हाल ही में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले सभी को चौंका दिया है। हालाँकि वो टी20 डोमेस्टिक लीग्स में खेलते रहेंगे। लेकिन उनसे अलग भी क्रिकेटर हैं जो 2018 में संन्यास की घोषणा कर चुके हैं या संन्यास ले चुके हैं। जिन्हें हम अब अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में खेलते हुए शायद कभी नहीं देख पाएंगे।

इस आर्टिकल में हम चर्चा करने जा रहे हैं ऐसे ही कुछ क्रिकेटरों पर जो इसी साल ले चुके हैं संन्यास। इस लिस्ट में एक भारतीय भी है शामिल।

ड्वेन ब्रावो

पिछले 10 महीने में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संयास ले चुके हैं ये 5 दिग्गज खिलाड़ी, अब नहीं आयेंगे 2019 विश्वकप में नजर 1

इस लिस्ट में सबसे नया नाम। क्रिकेट के छोटे प्रारूपों के सबसे सफ़ल ऑल-राउंडरों में से एक। वो काफ़ी समय से नेशनल टीम का हिस्सा नहीं थे। उन्होंने अपना आख़िरी मैच, 2016 में वेस्ट इंडीज़ के खिलाफ़ टी20 मैच खेला था। जहाँ उन्होंने 11 रन की पारी खेली, इस मैच में वो एक भी विकेट नहीं ले पाए। यानी उनकी विदाई उस तरह नहीं हुई, जिसके वो हक़दार हैं।

मोहम्मद कैफ़

पिछले 10 महीने में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संयास ले चुके हैं ये 5 दिग्गज खिलाड़ी, अब नहीं आयेंगे 2019 विश्वकप में नजर 2

अपने दौर के सबसे बेस्ट फ़ील्डरों में से एक। उनके नाम चाहे, क्रिकेट के इतने रिकॉर्ड ना रहे हों, लेकिन एक आदर्श मिडिल ऑर्डर बैट्समैन के तौर पर जो उन्होंने टीम के लिए किया उसे शायद कभी नहीं भुलाया जा सकेगा। इसी साल जुलाई के महीने में उन्होंने क्रिकेट के सभी प्रारूपों से संन्यास की घोषणा की थी।

और पढे – विराट कोहली रिकॉर्ड तोड़ प्रदर्शन के बीच इन तीन बड़े रिकॉर्ड को तोड़ने के हैं बहुत करीब

2002 नैटवेस्ट सीरीज़ का फाइनल मैच। उनकी 75 गेंदों में 87 रन की पारी, उनके करियर की श्रेष्ठतम पारियों में शुमार है। उनके नाम एक ख़ास रिकॉर्ड यह भी है कि उन्होंने एकदिवसीय क्रिकेट में सातवें नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए शतक जड़ा हुआ है।

एलेस्टर कुक

पिछले 10 महीने में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संयास ले चुके हैं ये 5 दिग्गज खिलाड़ी, अब नहीं आयेंगे 2019 विश्वकप में नजर 3

टेस्ट क्रिकेट के अच्छी ख़ासी संख्या में रिकार्ड ध्वस्त करने वाले एलेस्टर कुक। कयास लगाये जा रहे थे कि वो सचिन तेंदुलकर के टेस्ट क्रिकेट के सबसे ज्यादा रन के रिकॉर्ड को तोड़ने में सफ़ल होंगे। लेकिन बीते महीने ही उन्होंने क्रिकेट से संन्यास की पुष्टि कर दी।

यह भी पढे – वेस्टइंडीज को भारत में सफलता दिलाने के लिए मदद को जुड़ा ये पाकिस्तानी दिग्गज

उनके नाम पंद्रह हज़ार से ज्यादा अंतरराष्ट्रीय रन, जिनमें 80 प्रतिशत से ज्यादा रन उन्होंने टेस्ट क्रिकेट में बनाये। बारह हज़ार टेस्ट रन, 33 टेस्ट शतक। लगातार 9 टेस्ट बीत चुके थे, उनके बल्ले से एक भी शतक नहीं निकला था। लेकिन अपने करियर की आख़िरी पारी में उन्होंने एक गज़ब की पारी खेली।

मोर्ने मोर्केल

पिछले 10 महीने में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संयास ले चुके हैं ये 5 दिग्गज खिलाड़ी, अब नहीं आयेंगे 2019 विश्वकप में नजर 4

इसी साल, ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ़ सीरीज़, उनके करियर की आख़िरी सीरीज़ रही। इस सीरीज़ में उन्होंने कुल पंद्रह शिकार किये। इन पंद्रह विकेट के साथ ही वो टेस्ट में 300 विकेट लेने वाले केवल पांचवे अफ़्रीकी गेंदबाज बने थे।

उन्होंने अपने करियर में खेले 117 एकदिवसीय मैचों में 188 विकेट भी चटकाई। वो क्रिकेट के सभी फॉर्मेट में 500 से ज्यादा विकेट लेने वाले केवल छठे अफ़्रीकी गेंदबाज हैं।

ए बी  डिविलियर्स

पिछले 10 महीने में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संयास ले चुके हैं ये 5 दिग्गज खिलाड़ी, अब नहीं आयेंगे 2019 विश्वकप में नजर 5

2019 विश्व कप से पहले साउथ-अफ्रीका के लिए एक तगड़ा झटका और इस लिस्ट में इसी साल संन्यास लेने वाले दूसरे अफ़्रीकी खिलाड़ी। 2015 विश्व कप में उन्होंने साउथ-अफ्रीका को सेमीफाइनल तक पहुँचाने में अहम् योगदान दिया था। मई 2018 में उन्होंने संन्यास की घोषणा कर पूरे क्रिकेट जगत को जैसे आंसुओं में लीन कर दिया था।

और पढे – विराट कोहली का चहेता है ये खिलाड़ी लगातार फ्लॉप होने के बाद भी बना रहता है टीम का हिस्सा

उन्हें क्रिकेट के सबसे महान बल्लेबाजों में ऐसे ही नहीं शुमार किया जाता। उनके नाम टेस्ट क्रिकेट में साढ़े आठ हज़ार से अधिक रन वो भी पचास की औसत से ज्यादा से बनाये उन्होंने। वहीँ एकदिवसीय मैचों में भी उन्होंने पचास से अधिक की औसत से रन बनाये। सबसे तेज़ अंतरराष्ट्रीय शतक भी उन्हीं के नाम है जो उन्होंने मात्र 31 गेंदों में बनाया।

 

अगर आपको हमारा ये आर्टिकल पसंद आया हो तो प्लीज इसे लाइक करें। अपने दोस्तों तक इस खबर को सबसे पहले पहुंचाने के लिए शेयर करें। साथ ही कोई सुझाव देना चाहे तो प्लीज कमेंट करें। अगर आपने हमारा पेज अब तक लाइक नहीं किया हो तो कृपया इसे लाइक करें, जिससे लेटेस्ट अपडेट आपको हम जल्दी पहुंचा सके।

Related posts

Leave a Reply