पीयूष चावला

इंडियन प्रीमियर लीग 2020 के ऑक्शन में महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी वाली फ्रैंचाइजी चेन्नई सुपर किंग्स ने स्पिन गेदंबाज पीयूष चावला को 6 करोड़ 75 लाख की कीमत में खरीदकर अपनी टीम में शामिल किया था। हालांकि फिलहाल आईपीएल 2020 स्थगित है लेकिन अब इस बीच चावला ने इस बात का खुलासा कर दिया है कि उन्हें खरीदने का फैसला आखिर किसका था।

धोनी का था पीयूस चावला को खरीदने का फैसला

पीयूष चावला ने खुद किया खुलासा, चेन्नई सुपर किंग्स में किसने लिया था उन्हें खरीदने का फैसला 1

आईपीएल 2020 के ऑक्शन में चेन्नई सुपर किंग्स ने सीनियर स्पिन गेंदबाज पीयूष चावला को खरीदकर अपनी टीम में शामिल किया। असल में चेन्नई के एमए चितंबरम स्टेडियम में स्पिन गेंदबाजों को काफी मदद मिलती है, जिसके चलते ही सीएसके ने चावला पर बड़ी रकम खर्च कर टीम में शामिल किया। अब स्पोर्ट्सकीड़ा के साथ बात करते हुए चावला ने खुद इस बात की जानकारी दी है की उन्हें सीएसके में शामिल करने का फैसला कप्तान धोनी का था। उन्होंने बताया,

” हम लोग चेन्नई में ट्रेनिंग कैंप में हिस्सा ले रहे थे। उस दौरान क्रिकेट को लेकर मेरी धोनी से बातचीत हुई और इसी बीच मैंने उनसे ये बात भी पूछ ली कि मुझे टीम में लाने का फैसला किसका था। इसके जवाब में धोनी ने कहा कि ये पूरी तरह से उनका ही फैसला था।”

6.75 करोड़ में पीयूष चावला को सीएसके ने खरीदा

स्पिन गेंदबाज पीयूष चावला को कोलकाता नाइट राइडर्स ने आईपीएल 2020 के ऑक्शन पूल में उतारा था। जहां महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी वाली फ्रैंचाइजी चेन्नई सुपर किंग्स ने चावला को खरीदने की ठान ली। चेन्नई सुपर किंग्स आईपीएल ऑक्शन में बहुत सोच-समझकर खिलाड़ियों पर दांव लगाती है।

मगर चावला को खरीदने के लिए वह बोली पर बोली लगाती गई और आखिर में 6.75 करोड़ रुपये में चावला को खरीदकर टीम ने अपने साथ कर लिया। बता दें, चेन्नई के चिदंबरम स्टेडियम का विकेट स्पिन गेंदबाजों के लिए काफी मददगार होता है, शायद यही कारण है कि इतने मोटे दाम देकर सीएसके ने चावला को खरीदा।

आईपीएल है अनिश्चितकाल के लिए स्थगित

पीयूष चावला ने खुद किया खुलासा, चेन्नई सुपर किंग्स में किसने लिया था उन्हें खरीदने का फैसला 2

कोरोना वायरस के चलते 29 मार्च से शुरु होने वाले आईपीएल 2020 को बीसीसीआई ने अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया। भारत में दिन प्रतिदिन कोरोना के मामलों में हो रही बढ़ोत्तरी सभी के लिए चिंता का विषय है। बीसीसीआई ने भी अभी तक भारत में किसी भी क्रिकेट इवेंट के आयोजन की घोषणा नहीं की है।

इतना ही नहीं हाल ही में बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली ने बताया था की जब तक हालात बेहतर नहीं होते तब तक बोर्ड क्रिकेट पर फैसला नहीं लेगा क्योंकि खिलाड़ियों की सुरक्षा सर्वोपरि है। बताते चलें, धोनी ने मार्च में शुरु हुए ट्रेनिंग कैंप में हिस्सा लिया था, लेकिन बदकिस्मती से कोरोना वायरस के चलते कैंप को स्थगित कर दिया गया था।