माइक हसी ने कहा कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल होंगे विश्व कप के आखिरी में भारती

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

विराट, बुमराह और धोनी नहीं बल्कि इस खिलाड़ी को माइक हसी मानते है विश्व कप फाइनल में महत्वपूर्ण 

विराट, बुमराह और धोनी नहीं बल्कि इस खिलाड़ी को माइक हसी मानते है विश्व कप फाइनल में महत्वपूर्ण

विश्व कप 2019 इंग्लैंड और वेल्स में खेला जा रहा है. इस विश्व कप का फाइनल मैच 14 जुलाई को लॉर्ड्स के ऐतिहासिक मैदान पर खेला जायेगा. ये विश्व कप अब एक रोमांचक मोड़ पार पहुँच चूका है. ऑस्ट्रेलिया के दिग्गज खिलाड़ी माइक हसी ने कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल को विश्व कप के आखिरी में भारतीय टीम के लिए मैच विजेता बताया है.

माइक हसी ने की कुलदीप और युजवेंद्र चहल की तारीफ

माइक हसी

ऑस्ट्रेलिया टीम के दिग्गज पूर्व बल्लेबाज माइक हसी ने भारतीय टीम की तारीफ करते हुए कहा कि

” भारतीय टीम को देखते हुए मुझे लग रहा की वे एक शानदार संतुलित टीम हैं. उन्होंने टूर्नामेंट के सभी क्षेत्र को अच्छी तरह से कवर किया है. इस टूनामेंट के आखिरी के मैचों में सूखे और अधिक उपयोग किए विकेट मिलेंगे तो स्पिनरों को अधिक भूमिका निभाने के लिए मिलेगा.”

उन्होंने आगे कहा कि

 ” यहीं से भारत को बड़ा फायदा मिला है. अन्य टीमों के मुकाबले उनके पास दो गुणवत्ता वाले कलाई के स्पिनर कुलदीप और चहल  हैं, जो मैच विजेता हो सकते हैं. भारत की टीम इस समय शानदार ढंग से क्रिकेट खेल रही है, उनके विभिन्न क्षेत्र में काफी मजबूती है.  मैं उनसे निश्चित रूप से सेमीफाइनल और संभवत: फाइनल में पहुंचने की उम्मीद करता हूं.

महेंद्र सिंह धोनी का माइक हसी ने किया बचाव

अपने ऑस्ट्रेलिया टीम के प्रदर्शन पर बोलते हुए माइक हसी ने कहा कि

” मुझे लगता है कि उनके पास अब एक अच्छा मौका है क्योंकि उन्होंने सेमीफाइनल में खेलने की योग्यता हासिल की है. टीम अच्छा खेल रही है. ऑस्ट्रेलिया का विश्व कप के इतिहास में एक गौरवपूर्ण रिकॉर्ड है और वे इसे जारी रखना चाहते हैं, वे जानते हैं कि उन बड़े खेलों को कैसे जीता जाए.”

भारतीय विकेटकीपर बल्लेबाज महेंद्र सिंह धोनी के धीमी पारी का बचाव करते हुए माइक हसी ने कहा कि

”मुझे लगता है कि महेंद्र सिंह धोनी इस भारतीय टीम के लिए महत्वपूर्ण है. इन मिस्ट्री स्पिनरों के खिलाफ बल्लेबाजी करना और अंदर आते ही स्ट्राइक रोटेट करना थोडा चुनौतीपूर्ण है. आपको पता नहीं होता है कि गेंद किस तरफ मुड़ रही है.”

धीमी पिच पर बल्लेबाजी करना मुश्किल

हसी ने धीमी पिच पर बल्लेबाजी को मुश्किल बताते हुए कहा कि

” धीमी पिच पर बल्लेबाजी करना काफी कठिन है इसलिए, मैं इस पर बहुत अधिक जोर नहीं दूंगा. धोनी तेज गेंदबाजों को पारी की शुरुआत में खेलते हैं, वह उनकी गेंद पर थोड़ा आसानी से रन बना सकते हैं. मुझे लगता है कि अफगानिस्तान के खिलाफ हुआ मैच महेंद्र सिंह धोनी जैसे खिलाड़ी के लिए मुश्किल मैच में से एक था.”

Related posts