राशिद खान के जन्मदिन पर डेविड वार्नर ने उनकी उम्र को लेकर किया एक पोस्ट

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

राशिद खान के जन्मदिन पर डेविड वार्नर ने बनाया उनकी उम्र का मजाक, कहा कुछ ऐसा देख नहीं रुकेगी हंसी 

राशिद खान के जन्मदिन पर डेविड वार्नर ने बनाया उनकी उम्र का मजाक, कहा कुछ ऐसा देख नहीं रुकेगी हंसी

अफ़ग़ानिस्तान में जन्मा, बारूदो के बीच खेला, आतंक के साए में बिताना पड़ा बचपन, देश छोड़ कुछ दिन दूसरे देश में जीना पड़ा जिंदगी. हवा में फैलते बारूद को उसने अपनी गेंदबाजी में भर लिया और अब मैदान पर अपनी फिरकी से बड़े-बड़े धमाके करता है. भारत में भी बना लिया अच्छा खासा फैन बेस. यह कोई और नहीं राशिद खान जिनका आज जन्मदिन है यह 21 वर्ष के हो गए , लेकिन डेविड वार्नर ने  उम्र को लेकर एक पोस्ट किया है.

राशिद खान के जन्मदिन पर डेविड वार्नर ने बनाया उनकी उम्र का मजाक, कहा कुछ ऐसा देख नहीं रुकेगी हंसी 1

डेविड वार्नर ने किया यह पोस्ट

राशिद खान

अफगानिस्तान टेस्ट कप्तान राशिद खान की उम्र हमेशा सोशल मीडिया पर एक विवाद’रही है. लेग स्पिनर शुक्रवार को 21 साल के हो गए. लेकिन क्या वह वास्तव में 1998 में जन्मे थे? इंडियन प्रीमियर लीग में सनराइजर्स हैदराबाद के लिए खेलने वाले राशिद को उनके साथी डेविड वार्नर ने उनके जन्मदिन पर ट्रोल किया.

वार्नर ने अपनी इंस्टाग्राम कहानी में खान को जन्मदिन की बधाई दी और लिखा “हैप्पी 25 वां जन्मदिन राशिद खान” और इसके बाद हंसी के इमोजी जोड़े

 

हाल ही में, चटगांव में बांग्लादेश के खिलाफ एक अद्भुत टेस्ट जीत के लिए अफगानिस्तान का नेतृत्व करने के बाद, राशिद ने सुर्खियां बटोरीं. उनके 11 विकेट, 51 रन बनाकर टीम में योगदान किया जिसके कारण अफ़ग़ानिस्तान को जीत मिली.

इन दिक्कतों में बीता है राशिद खान का बचपन

डेविड वार्नर

यह अफगानी खिलाड़ी महज 17 साल की उम्र में ही अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में डेब्यू कर चूका था,  अफगानिस्तान की तरफ से वह टी-20 और वन-डे डेब्यू करने वाली सबसे कम उम्र के खिलाड़ी बन गए थे.

18 अक्टूबर 2015 में जिम्बाब्वे के खिलाफ उन्होंने अपना वन-डे डेब्यू किया था, जबकि पहला टी-20 मुकाबला 26 अक्टूबर को खेला था.

एक समय पर अफ़ग़ानिस्तान की  हालत बहुत खराब थी, उस समय वहां कुछ ऐसा हालात था कि कही भी बम गिरते थे, तो कही भी गोलियां चलने लगती थी, वहां के लोगों को काफी प्रताड़ित किया जा रहा था.

इन सब के डर से राशिद के पिता अपने पूरे परिवार को लेकर पाकिस्तान चले गए थे, इसके बाद जब वहां के हालात काबु में आए तो यह लोग अपने देश वापस आ गए थे. अब यह 21 वर्षीय खिलाड़ी अफ़ग़ानिस्तान टीम की बाग़डोर अपने हाथ में ले रखी है.

Related posts