गौतम गंभीर

दिल्ली डिस्ट्रिक क्रिकेट एसोशिएशन (डीडीसीए) की वार्षिक आम बैठक (एजीएम) आज रविवार को दिल्ली में हुई. इस बैठक के दौरान डीडीसीए के अधिकारी आपस में ही उलझ गए और एक-दूसरे के साथ हाथापाई में उतर आए, डीडीसीए के अधिकारीयों की इस शर्मनाक हरकत का वीडियो तेजी से सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है.

गंभीर की डीडीसीए को बैन करने की मांग

अधिकारीयों के झड़प का वीडियो सामने आने के बाद, गौतम गंभीर ने की डीडीसीए को बैन करने की मांग 1

वायरल वीडियो में साफ तौर पर देखा जा सकता है कि आगे की पंक्ति में बैठे कुछ लोग सामने आते हैं और आपस में उलझ जाते हैं. लोग एक-दूसरे पर बुरी तरह झपटते हैं और धक्का-मुक्की करते हैं. दोनों गुटों में कौन लोग शामिल हैं, इसकी पहचान अभी तक नहीं पाई गई है

पूर्व क्रिकेटर और बीजेपी सांसद गौतम गंभीर ने बीसीसीआई के अध्यक्ष सौरव गांगुली व सचिव जय शाह को टैग करके ट्वीट करते हुए लिखा, “डीडीसीए हद से बाहर चला गया है. डीडीसीए के शर्मनाक काम किया है. डीडीसीए को तत्काल खत्म कर दिया जाए. साथ ही इसमें शामिल दोषियों पर आजीवन प्रतिबंध लगा दिया जाए.”

अधिकारीयों के झड़प का वीडियो सामने आने के बाद, गौतम गंभीर ने की डीडीसीए को बैन करने की मांग 2

डीडीसीए अधिकारीयों से नहीं रहे हैं गंभीर के अच्छे रिश्ते

गौतम गंभीर

आपकों बता दें, कि गौतम गंभीर नवदीप सैनी को दिल्ली की घरेलू टीम में शामिल करने के चलते दिल्ली डिस्ट्रिक क्रिकेट एसोसिएशन (डीडीसीए) से भी भीड़ गये थे.

नवदीप को दिल्ली की घरेलू टीम में डीडीसीए के अधिकारी शामिल नहीं करना चाहते थे. उनका कहना था कि नवदीप हरियाणा राज्य के है और वह एक बाहरी व्यक्ति है, इसलिए हम उन्हें टीम में शामिल नहीं कर सकते है.

गंभीर ने डीडीसीए को यह तक धमकी दे दी थी, कि अगर नवदीप को टीम में शामिल नहीं किया जाता है, तो वह भी टीम के लिए नहीं खेलेंगे. आख़िरकार गंभीर के आगे डीडीसीए के अधिकारीयों को झुकना पड़ा था और उन्होंने नवदीप को दिल्ली की टीम में जगह दे दी थी.

vineetarya

cricket is my first and last love, I know cricket only cricket, I love watching cricket because cricket is my passion and my passion is my work my favourite player Mike Hussey and Kl Rahul