क्विंटन डी कॉक

कोरोना वायरस का प्रभाव बढ़ रहा है. अब पूरा विश्व ही इससे प्रभावित हो रहा है. इसी बीच भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच एकदिवसीय सीरीज खेली जा रही है. भारतीय टीम ने इस दौरान गेंद ना साइन करने का फैसला किया तो दक्षिण अफ्रीका के कप्तान क्विंटन डी कॉक ने कहा की हमारी टीम अभी भी गेंद को साइन जरुर करेगी.

क्विंटन डी कॉक ने कहा हम साइन करेंगे गेंद को

क्विंटन डी कॉक ने कहा कोरोना वायरस ठीक लेकिन हम सभी करेंगे गेंद को साइन 1

भारत में अब तक कोरोना वायरस के 60 केस सामने आ चुके हैं. जिसके कारण बहुत एहतियात बरती जा रही है. भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच इसी समय एकदिवसीय सीरीज खेली जा रही है. हालाँकि धर्मशाला, लखनऊ और कोलकाता में एक भी केस नहीं मिला और मैच इन्ही शहरो में खेले जाने हैं. गेंद को साइन करने के बारें में बोलते हुए दक्षिण अफ्रीका के कप्तान क्विंटन डी कॉक ने कहा कि

” हाँ बिलकुल हमें कोरोना वायरस के बारें में पता है. हम ये भी जानते हैं की क्या चल रहा है. व्यक्तिगत स्वच्छता एक बड़ी चीज है. कुछ लाइन बहुत छोटी होती है. हमने देखा है की दोनों ही टीमों स्वास्थ्य है. हमारे यहां रास्ते में परीक्षण किया गया है, इसलिए मुझे लगता है कि हम अभी भी गेंद को चमकाएंगे.”

दक्षिण अफ्रीका के कप्तान क्विंटन डी कॉक ने कहा हमने डॉक्टरों पर भरोसा

क्विंटन डी कॉक

अपने कोचिंग स्टाफ और डॉक्टरों के बारें में बोलते हुए क्विंटन डी कॉक ने कहा कि

” हमारी टीम के डॉक्टरों और मैनेजमेंट ने सुनिश्चित किया है कि हम सभी फिट हैं और हमारे पास कोरोना वायरस नहीं है. हम अभी भी इसमें शामिल होंगे और गेंद को चमकदार बनाए रखेंगे.”

श्रीलंका और इंग्लैंड के बीच होने वाली सीरीज के दौरान फैसला किया गया है की दोनों टीमों के खिलाड़ी एक दूसरे से हाथ नहीं मिलायेंगे. जिसके बारें में इस सीरीज के दौरान भी चर्चा चली है. हालाँकि उन शहरो में कोरोना वायरस के नहीं होने से खुद बीसीसीआई भी खिलाड़ियों के स्वास्थ्य को लेकर सोच रही है.

धर्मशाला में खेला जायेगा पहला मैच

वनडे

अपने घरेलू मैदान पर ऑस्ट्रेलिया की टीम को हराने के बाद भारतीय सरजमीं पर खेलने आई दक्षिण अफ्रीका की टीम का पहला मैच 12 मार्च को धर्मशाला में खेला जायेगा. उसके अलावा सीरीज का दूसरा मैच 15 मार्च को लखनऊ में तो वहीँ सीरीज का तीसरा और आखिरी मैच 18 मार्च को कोलकाता में खेला जायेगा. ये सीरीज दोनों ही टीमों के लिए बहुत ज्यादा अहम होने वाला है. कप्तानी मिलने के बाद डी कॉक अब और भी अच्छा करना चाहेंगे.

वहीं दूसरी तरफ भारतीय टीम के तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार ने साफ़ किया है कि टी इंडिया थूक से गेंद को नहीं चमकाएगी.