साउथ अफ्रीका

इन दिनों दुनियाभर में सालों से काले लोगों के साथ हो रहे भेदभाव के लिए ‘ब्लैक लाइफ मैटर” की मुहिम चल रही है। जिसका समर्थन पूरी क्रिकेट बिरादरी एक साथ होकर कर रही है। लेकिन इस बीच एक ऐसी खबर सामने आ रही है जिसे सुनकर आप भी हैरान रह जाएंगे। दरअसल, 2015 विश्व कप के बाद साउथ अफ्रीका की टीम भारत दौरे पर आई थी, जहां कप्तान एबी डिविलियर्स ने एक ब्लैक खिलाड़ी को जबरदस्ती प्लेइंग इलेवन से बाहर किया था।

एबी डिविलियर्स ने ब्लैक खिलाड़ी को दी थी धमकी

एबी डिविलियर्स

आईसीसी विश्व कप 2015 के बाद साउथ अफ्रीका की टीम भारत दौरे पर आई थी। जहां, दोनों टीमों के बीच 3 मैचों की टी20आई और पांच मैचों की वनडे सीरीज खेली गई थी। ये दौरा साउथ अफ्रीका टीम के लिए बेहद खास रहा था, क्योंकि अफ्रीकी टीम ने दोनों सीरीज अपने नाम की थी। जहां, टी20 सीरीज को 2-0 व 3-2 से वनडे सीरीज जीती।

साउथ अफ्रीका के इस दौरे को लगभग 5 साल बीत गए हैं, लेकिन अब रिपोर्ट्स से एक बड़ा खुलासा हुआ है कि साउथ अफ्रीकी टीम के कप्तान एबी डिविलियर्स ने ब्लैक खिलाड़ी खाया जोंडो को टीम में शामिल होने से सख्ती के साथ रोक दिया था। न्यूज 24 की एक रिपोर्ट के अनुसार, डिविलियर्स ने जोंडो को चुने जाने पर राष्ट्रीय टीम से बाहर जाने की धमकी भी दी थी।

REPORTS: एबी डिविलियर्स पर लगा ब्लैक खिलाड़ी को जबरदस्ती प्लेइंग इलेवन से बाहर करने का आरोप 1

डीन एल्गर को मिला था मौका

भारत के साथ 5 मैचों की वनडे सीरीज खेल रही थी तब जेपी डुमिनी के इजर्ड होने के बाद डीन एल्गर को खेलने का मौका मिला था। जबकि जोंडो पहले से ही टीम का हिस्सा थे, लेकिन उन्हें प्लेइंग इलेवन में शामिल नहीं किया गया।

समाचार आउटलेट ने पूर्व क्रिकेट दक्षिण अफ्रीका के अध्यक्ष नॉर्मन अर्सेंडे की रिपोर्ट के हवाले से बताया कि, जोंडो का नाम पांचवें वनडे से पहले टीम की शीट पर था। हालांकि, उन्हें मैच से पहले ग्यारह खिलाड़ियों की लिस्ट से हटा दिया गया था, जो क्रिकेट साउथ अफ्रीका की चयन नीति के विपरीत था।

खिलाड़ियों ने किया था डिविलियर्स के फैसले का विरोध

साउथ अफ्रीका

आज ब्लैक लाइव मैटर की गूंज पूरे देश में गूंज रही है। मगर शायद ही आपको पता हो कि भारत दौरे पर जब जोंडो को प्लेइंग इलेवन से बाहर किया गया था, तब भी ब्लैक प्लेयर्स के समूह ने खुद को ‘ब्लैक प्लेयर्स इन यूनिटी ‘कहा था, जिसका मतलब है काले रंगे के खिलाड़ी एकजुट हैं।

इन खिलाड़ियों के ग्रुप ने साउथ अफ्रीकी क्रिकेट बोर्ड को एक पत्र लिखा था। जिसमें खिलाड़ियों ने अपने साथ सही व्यवहार करने की बात कही थी। हाल ही में, प्रोटियाज के पूर्व खिलाड़ी प्रिंस ने भी ट्विटर पर जोंडो की कहानी को उजागर किया था।