5 गलत फैसले जो विराट कोहली ने अपनी कप्तानी में लिया

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

5 गलत फैसले, जो विराट कोहली की कप्तानी में हमें देखने को मिले 

5 गलत फैसले, जो विराट कोहली की कप्तानी में हमें देखने को मिले
Prev1 of 5
Use your ← → (arrow) keys to browse

सौरव गांगुली और महेंद्र सिंह धोनी के बाद भारतीय टीम की कप्तानी विराट कोहली के हाथो में आई. उन्होंने टेस्ट क्रिकेट में 2015 से और छोटे फ़ॉर्मेट में 2017 से कप्तानी संभाले. रिकॉर्ड के नजरिये से अभी तक विराट कोहली भारतीय टीम के लिए एक सफल कप्तान बनने की ओर आगे बढ़ रहे हैं.

सफलता के बीच विराट कोहली ने कुछ ऐसे फैसले भी अपनी कप्तानी में लिए जिनपर सवाल उठना लाजिमी हो जाता है. लगभग 3 साल से विराट कोहली तीनो फ़ॉर्मेट में भारतीय टीम के कप्तान रहे हैं लेकिन इस बीच उन्होंने टीम को एक भी आईसीसी का ख़िताब नहीं जिताया है.

आज हम आपको विराट कोहली के द्वारा बतौर कप्तानी में किये गये 5 बड़े फैसलों के बारें में बताने जा रहे हैं. जो गलत साबित हुए और उसके कारण टीम को बहुत परेशानी का सामना करना पड़ा. इन गलतियों में कुछ ऐसे समय में हुई जिसे भारतीय फैन्स कभी नहीं भूल सकते हैं.

1. नंबर 4 की समस्या को समाधान ना मिलना

विराट कोहली

बतौर कप्तान पहली जिम्मेदारी होती है की आप ये देखें की किस बल्लेबाज को किस नंबर पर खेलने का मौका देना चाहिए और उसे पर्याप्त मौके भी दिए जाये. लेकिन नंबर 4 पर बल्लेबाजी के लिए कोई एक बल्लेबाज पर विराट कोहली नहीं आ सके और इस नंबर पर कई खिलाड़ियों को मौका देते रहे.

कोहली ने किसी भी खिलाड़ी को इस नंबर पर खेलने के पूरे मौके दिए बिना ही बदलाव करते रहे. जिसके कारण इंग्लैंड में जब भारतीय टीम विश्व कप के लिए पहुँच गयी. उसके बाद भी नहीं पता चल पाया की किस खिलाड़ी को नंबर 4 पर खेलने का मौका मिल सकता है.

विश्व कप के दौरान भी विराट कोहली ने नंबर 4 पर 4 खिलाड़ियों को खेलने का मौका दिया. जिसका नतीजा ये आया की जब टीम को अपने नंबर 4 के बल्लेबाज की जरुरत पड़ी तो मौके पर उस नंबर पर खेल रहे युवा पंत टीम को मुश्किल से निकालने में नाकाम रहे.

Prev1 of 5
Use your ← → (arrow) keys to browse

Related posts