"2016 में मुझे बैटिंग ऑलराउंडर के रूप में चुना गया था", दीपक चाहर ने किया बड़ा खुलासा 1

भारतीय टीम और चेन्नई सुपर किंग्स के तेज़ गेंदबाज़ दीपक चाहर ने हाल ही में एक बड़ा खुलासा करते हुए बताया है कि उन्हें आईपीएल 2016 के दौरान राइजिंग पुणे सुपरजायंट के कोच स्टीफन फ्लेमिंग ने बल्लेबाजी ऑलराउंडर के रूप में ही टीम में शामिल किया था.

बता दें कि दीपक चाहर सीएसके में आने से पहले दो सीजन पुणे फ्रेंचाइजी के लिए खेला करते थे जिसके कोच स्टीफन फ्लेमिंग थे. आज के समय में सभी दीपक को एक शानदार स्विंग गेंदबाज के रूप में जानते हैं, लेकिन उनका कहना है कि साल 2014 से वो गेंदबाजी के साथ-साथ अपनी बल्लेबाजी पर भी काफी काम कर रहे हैं. दीपक ने हाल ही में हुए श्रीलंका दौरे पर एक वनडे मैच में नाबाद 69 रनों की पारी खेल कर कई लोगों को हैरान कर दिया था.

मुझे एक बल्लेबाजी ऑलराउंडर के रूप में चुना गया था – चाहर

"2016 में मुझे बैटिंग ऑलराउंडर के रूप में चुना गया था", दीपक चाहर ने किया बड़ा खुलासा 2

इस 29 वर्षीय तेज़ गेंदबाज ने आकाश चोपड़ा के साथ हुई एक बातचीत के दौरान खुलासा करते हुए कहा है कि,

“जब मुझे आईपीएल में पुणे के लिए चुना गया था, स्टीफन फ्लेमिंग सर ने वास्तव में मुझे एक बल्लेबाजी ऑलराउंडर के रूप में चुना था, न कि एक गेंदबाजी ऑलराउंडर के रूप में. पहले ट्रायल गेम के दौरान, मैंने 48 या 49 रन बनाए. अगले दिन, उन्होंने मुझे वन-डाउन में भेज दिया और मैंने अर्धशतक बनाया. इस तरह मुझे पुणे टीम में चुना गया.”

मैं 2014 से अपनी बल्लेबाजी पर काम कर रहा हूं – चाहर

"2016 में मुझे बैटिंग ऑलराउंडर के रूप में चुना गया था", दीपक चाहर ने किया बड़ा खुलासा 3

इस बारे में बात करते हुए चाहर ने आगे कहा कि,

“पुणे के बाद, मैं सीएसके आया. एमएस धोनी को ऐसे खिलाड़ी पसंद हैं जो सभी विभागों में योगदान दे सकें. 2018 में, उन्होंने मुझे एक गेम में खुद से आगे भेजा और मैंने 19-20 गेंदों में 40 रन बनाए. लेकिन उसके बाद मुझे ज्यादा बल्लेबाजी करने का मौका नहीं मिला. मैं 2014 से अपनी बल्लेबाजी पर काम कर रहा हूं क्योंकि गेंदबाजी में काफी प्रतिस्पर्धा है. यदि आप बल्ले से योगदान करते हैं, तो यह आपको चयन के दौरान बढ़त देता है.”