//

दीपक चाहर ने बताया, विराट कोहली-रोहित शर्मा और महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में अंतर

दीपक चाहर भारतीय टीम के एक ऐसे खिलाड़ी है, जो रोहित शर्मा, विराट कोहली और महेंद्र सिंह धोनी तीनों की ही कप्तानी में खेल चुके हैं. रोहित शर्मा और विराट कोहली की कप्तानी में वह जहां भारतीय टीम के लिए खेले हैं. वहीं धोनी की कप्तानी में वह चेन्नई सुपर किंग्स के लिए खेले हैं. इसी बीच उन्होंने तीनों कप्तानों की कप्तानी में अपनी राय रखी है.

जेसीसी
बनना चाहते हैं प्रोफेशनल क्रिकेटर?
अभी करें रजिस्टर

*T&C Apply

विराट कोहली बहुत आक्रामक कप्तान 

दीपक चाहर ने बताया, विराट कोहली-रोहित शर्मा और महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में अंतर 1

सबसे पहले विराट कोहली की कप्तानी के बारे में बात करते हुए दीपक चाहर ने कहा, “विराट कोहली बहुत आक्रामक है और जब आप उसे मैदान पर देखते हैं, तो आप स्वतः ऊर्जावान हो जाते हैं. वह सामने होते हैं, चाहे वह उसकी बल्लेबाजी के साथ हो या मैदान पर, जब आप उसे अपना 110 प्रतिशत देते हुए देखते हैं, तो आप स्वतः ही अपना 100 प्रतिशत देते हैं.”

रोहित शर्मा आप पर विश्वास करते

रोहित शर्मा

रोहित शर्मा की कप्तानी के बारे में बोलते हुए दीपक चाहर ने अपने बयान में कहा, “रोहित शर्मा कप्तानी करते हुए बहुत शांत और रचनाशील है. वह आपको दिखाता है कि वह आप पर भरोसा करता है,  इसलिए जब कप्तान शांत रहता है और आपको बैक करता है, तो आप भी अच्छा प्रदर्शन करने के लिए प्रेरित होते हैं, क्योंकि आपको लगता है कि कप्तान का विश्वास आपके साथ है.”

माही भाई का क्रिकेट ज्ञान अविश्वसनीय

दीपक चाहर ने बताया, विराट कोहली-रोहित शर्मा और महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में अंतर 2

वहीं महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी के बारे में बात करते हुए दीपक चाहर ने कहा, “माही भाई के लिए, हम सभी जानते हैं कि वह कितने शांत हैं. उनका क्रिकेट ज्ञान अविश्वसनीय है. इतने लंबे समय तक कप्तानी करने के बाद, वह पूर्व संकेत दे सकता है कि क्या होने वाला है और किसी स्थिति पर कैसे प्रतिक्रिया देनी चाहिए. साथ ही, वह जानता है कि अपने खिलाड़ियों का उपयोग कैसे करना है और मुझे लगता है कि एक कप्तान का सबसे बड़ा कौशल है. 

यदि आप अपने खिलाड़ी को उसकी ताकत के क्षेत्र से अवगत करा सकते हैं, तो वह कुछ भी कर सकता है और माही भाई ऐसा करते हैं, इसीलिए ही उन्होंने उन्होंने अपनी कप्तानी में बहुत कुछ हासिल किया है. वह जानते हैं कि आपसे सर्वश्रेष्ठ कैसे निकाला जाए.”