इन कारणों से प्रशंसकों के मन में खटकने लगे कैप्‍टन धोनी

खेल डेस्‍क। भारतीय टीम के कप्‍तान महेंद्र सिंह धोनी को इन दिनों अपने आलोचकों का सामना कुछ ज्‍यादा ही करना पड़ रहा है। इसके पीछे का कारण है उनका लगातार 5 सीरीज हारना। बांग्‍लादेश जैसी कमजोर टीम से हारना उसके बाद घरेलू मैदान पर दक्षिण अफ्रीका के हाथो करारी शिकस्‍त और लगातार टीम इंडिया का गिरता प्रदर्शन उनकी इमेज को बहुत चोट पहुंचा रहा है। इसमें कोई संदेह नहीं कि उन्‍होंने टीम इंडिया को बहुत ऊंचाई तक पहुंचाया। टीम इंडिया ने 2007 आईसीसी टी-20 विश्‍व कप, 2011 आईसीसी क्रिकेट विश्‍व कप, 2013 चैंपियंस ट्रॉफी और टेस्‍ट में शीर्ष रैंकिंग जैसी उपलब्धियों तक धोनी की कप्‍तानी में ही टीम पहुंची।

आइए अब हम उन कारणों के बारे में बात करते हैं जिनके कारण धोनी लोगों को खटकने लगे हैं।
1- धोनी दवाब में खेलने वाले बल्‍लेबाज के रूप में जाने जाते है, लेकिन पिछली कुछ पारियों में उनका प्रदर्शन अच्‍छा नहीं रहा है।
2- क्रिकेट के बोल्‍ड फैसले जो पहले उनकी पहचान बन गए थे, अब वही आलोचना का कारण भी बन रहे है।
3- टीम इंडिया के अन्‍य खिलाड़ी भी ठीक प्रदर्शन नहीं कर रहे, खासकर गेंदबाज जिसके कारण धोनी पर दवाब और बढ़ गया है।
4- बीसीसीआई इन दिनों राजनीति का अखाड़ा बनी हुई है, और कोहली को भविष्‍य के कप्‍तान के रूप में देखा जा रहा है जिस कारण से टीम इंडिया में तनाव और बढ़ रहा है।
5- धोनी को एक विज्ञापन में भगवान विष्‍णु के अवतार के रूप में दिखाया गया था, जिसका उन पर अदालती केस भी चल रहा है। धार्मिक भावनाओं के आहत होने के कारण भी लोग उनकी आलोचना कर रहे हैं।

6- धोनी मैच हारने पर भी हंसते हुए ही बात करते हैं, जो कि भावनात्‍मक क्रिकेट प्रेमियों को सहन नहीं।
7- भारत में क्रिकेट एक धर्म है, और प्रशंसकों को क्रिकेट को हार किसी भी कीमत पर स्‍वीकार नहीं।
8- धोनी को लोग प्रैक्टिकल ज्‍यादा मानते है, और लोगों को लगता है वह दिल की जगह दिमाग से क्रिकेट खेलते हैं।
9- युवराज की टीम में वापसी को लेकर भी लोग धोनी को ही जिम्‍मेदार मानते है, और इसके लिए वह उनकी आलोचना भी करते हैं।
10- कुछ खिलाडि़यों को लेकर धोनी पर पक्षपात का आरोप भी लगता रहता है जैसे- जडेजा, रैना। इस कारण से भी प्रशंसक उनसे नाराज हैं। 

Related Topics