जडेजा-धोनी की साझेदारी ने बना डाला विश्व इतिहास का बड़ा रिकॉर्ड

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

भले ही हार गया हो भारत, लेकिन जडेजा-धोनी की साझेदारी ने बना डाला विश्व रिकॉर्ड 

भले ही हार गया हो भारत, लेकिन जडेजा-धोनी की साझेदारी ने बना डाला विश्व रिकॉर्ड

भारत और न्यूजीलैंड के बीच विश्व कप 2019 का पहला सेमीफाइनल मुकाबला मैनचेस्टर के ओल्ड ट्रेफर्ड क्रिकेट स्टेडियम में खेला गया था. इस पहले सेमीफाइनल मुकाबले को न्यूजीलैंड की टीम ने अपने शानदार प्रदर्शन के चलते 18 रन के अंतर से जीत लिया और इस मैच को जीतने के साथ ही न्यूजीलैंड की टीम ने फाइनल में अपनी जगह बना ली थी. वहीं भारतीय टीम इस विश्व कप से बाहर हो गई है.

जडेजा-धोनी की साझेदारी ने जगाई आस

भले ही हार गया हो भारत, लेकिन जडेजा-धोनी की साझेदारी ने बना डाला विश्व रिकॉर्ड 1

आपकों बता दें, कि एक समय भारतीय टीम इस मैच में 92 रन के भीतर ही अपने 6 विकेट गंवा चुकी थी, लेकिन ऐसे मुश्किल समय पर एमएस धोनी और रविन्द्र जडेजा ने हार नहीं मानी और 116 रन की एक शानदार साझेदारी निभाई थी.

इनदिनों की इस शानदार साझेदारी ने भारतीय टीम के प्रशंसकों को जीत की आस जगा दी थी, लेकिन अंतिम समय पर दोनों ही बल्लेबाज आउट हो गए थे और भारतीय टीम को इस मैच में हार का सामना करना पड़ा था.

7वें विकेट के लिए विश्व कप इतिहास की सबसे बड़ी साझेदारी

भले ही हार गया हो भारत, लेकिन जडेजा-धोनी की साझेदारी ने बना डाला विश्व रिकॉर्ड 2

बता दें, कि एमएस धोनी और रविन्द्र जडेजा की 116 रन की यह साझेदारी विश्व कप इतिहास की 7वें विकेट के लिए सबसे बड़ी साझेदारी है.

इससे पहले विश्व कप के इतिहास में 7वें विकेट के लिए सबसे बड़ी साझेदारी का रिकॉर्ड युएई के शाइमन अनवर और अमजद जावेद के नाम था. इन दोनों बल्लेबाजों ने विश्व कप 2015 में आयरलैंड के खिलाफ 107 रन की साझेदारी की थी. हालांकि अब इस रिकॉर्ड को एमएस धोनी और रविन्द्र जडेजा ने अपने नाम कर लिया है.

जडेजा ने 77 रन, तो धोनी ने बनाये 50 रन

भले ही हार गया हो भारत, लेकिन जडेजा-धोनी की साझेदारी ने बना डाला विश्व रिकॉर्ड 3

भारत के लिए इस मैच में रविन्द्र जडेजा ने 59 गेंदों पर 77 रन की शानदार पारी खेली. उन्होंने अपनी इस पारी के दौरान 4 शानदार चौके और 4 शानदार छक्के लगाये. वहीं एमएस धोनी ने टीम के लिए 72 गेंदों पर 50 रन बनाये थे. उन्होंने अपनी पारी में एक चौका और एक छक्का लगाया था.

भले ही भारतीय टीम इस मैच को जीत नहीं पाई हो, लेकिन रविन्द्र जडेजा और एमएस धोनी दोनों की संघर्षपूर्ण पारी ने भारतीय टीम के क्रिकेट प्रेमियों का दिल जीत लिया था.

 

Related posts